लखीमपुर में दो शिक्षिकाओं ने बा स्कूल की 30 छात्राओं को बनाया बंधक! जानें क्या है पूरा मामला

 लखीमपुर-खीरी
 
यूपी के लखीमपुरखीरी जिले की बा स्कूल की छात्राएं देर रात को अचानक छत पर पहुंच गई और शोर मचाने लगीं। वार्डन को जब इसकी जानकारी मिली तो उसने इसकी जानकारी तुरंत बीएसए को दी। वार्डन ने बीएसए को बताया कि स्कूल की दो शिक्षकाओं ने 30 छात्रों को बंधक बना लिया है। इतनी बात सुनते ही बीएसए देर रात को पुलिस फोर्स के साथ स्कूल के लिए निकल पड़े। पुलिस ने छात्राओं को कक्ष से बाहर निकाला। डीसी बालिका शिक्षा ने स्कूल की दो शिक्षिकाओं के खिलाफ नीमगांव थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। हालांकि जिन दो शिक्षिकाओं पर छात्राओं को बंधक बनाए जाने का आरोप लगा है उनका घटना से एक दिन पहले ही तबादला हो चुका है।

दरअसल वार्डेन और पूर्णकालिक शिक्षिकाओं के बीच चल रहे विवाद का अखाड़ा कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय बेहजम बन गया। नाटकीय घटनाक्रम में तमाम छात्राएं स्कूल की छत पर पहुंच गईं थी और फिर शोर मचाने लगीं। वार्डन का आरोप है कि शिक्षिकाओं ने छात्राओं को छत पर ले जाकर बंधक बनाया है। मामले की सूचना मिलते ही बेसिक शिक्षा विभाग में हड़कम्प मच गया।

बा स्कूल बेहजम में गुरुवार की देर रात हंगामा हो गया। यहां करीब 54 छात्राएं थी, इसमें से 30 से ज्यादा छात्राओं को विद्यालय की ऊपरी मंजिल पर एक कक्ष में रोक लिया गया। इसके बाद छात्राओं के शोर-शराबे की जानकारी वार्डेन ललित कुमारी को हुई। वार्डन ने फोन पर बीएसए को बताया कि इन छात्राओं को दो शिक्षिकाओं ने बंधक बना लिया है। काफी प्रयास के बाद भी वे छात्राओं को नीचे आने नहीं दे रहीं। रात को ही बीएसए लक्ष्मीकांत पांडे, जिला समन्वयक बालिका शिक्षा रेनू श्रीवास्तव बेहजम पहुंच गए।

 

Related Articles

Back to top button