‘गौ रक्षक बनें, धर्म परिवर्तन का विरोध करें मुस्लिम’, IAS नियाज खान ने किया ट्वीट

एक बार फिर प्रमोटी आईएएस नियाज खान चर्चाओं में हैं. इस बार उन्होंने मुसलमानों को सलाह देते हुए एक ट्वीट किया है, जो बेहद चर्चा का विषय बना हुआ है. नियाज खान ने गुरुवार सुबह एक ट्वीट किया.

एक बार फिर प्रमोटी आईएएस नियाज खान चर्चाओं में हैं. इस बार उन्होंने मुसलमानों को सलाह देते हुए एक ट्वीट किया है, जो बेहद चर्चा का विषय बना हुआ है. नियाज खान ने गुरुवार सुबह एक ट्वीट किया. इसमें मुसलमानों से आग्रह किया है कि वह गौ भक्त बनें. धर्मांतरण का विरोध करें. अगर संभव हो सके, तो शाकाहारी बनें और सबसे आखिर में उन्होंने एक बड़ी बात कही है कि ब्राह्मणों से मुसलमान मधुर संबंध बनाएं.

दरअसल, नियाज खान साल 2105 बैच के आईएएस अफसर हैं. उन्होंने कहा कि मेरा यह मानना है कि आजादी के बाद से भारत 80% हिंदुओं का देश है. यहां आज से नहीं, वैदिक काल से ब्राह्मण गाय को पवित्र पशु मानते हैं. वेदों में भी इसका उल्लेख है. हर हिंदू के अंदर गाय को लेकर पवित्र भाव है. अगर देश के अंदर ऐसी घटना हो कि किसी की मां की हत्या हो, यह कब तक चलेगा? साल में एक-दो घटनाएं हो जाती हैं. ऐसा नहीं है कि अकेले मुस्लिम करते हैं. पूरा नार्थ ईस्ट नॉन वेजिटेरियन एरिया है और दूसरे लोग भी हैं.

गाय को क्षति पहुंचाने वालों का करें विरोध

अगर कोई व्यक्ति गाय को क्षति पहुंचाने का प्रयास करता है, तो हमारे माइनॉरिटीज सहित दूसरे लोग भी इसका विरोध करने का हिस्सा बन जाएं. ऐसा नहीं है कि सारे मुसलमान गोरक्षा का विरोध कर रहे हैं. कोई मुसलमान नहीं चाहता है कि गाय माता की हत्या हो. मैं भी गाय माता का बहुत सम्मान करता हूं.

नॉनवेज खाने से बढ़ रहा धरती का टेंपरेचर

वेजिटेरियन बनने पर नियाज खान ने कहा कि नॉनवेज से CFC गैस निकल रही है. इस वजह से टेंपरेचर बढ़ रहा है. आजकल तो वेस्टर्न कंट्रीज, जहां मांस का भरपूर इस्तेमाल होता है, वे भी शाकाहारी बन रहे हैं. धरती बचने के लिए जितने भी लोग शाकाहार की ओर जाएंगे, धरती माता को बचाने में सहयोग रहेगा. मगर, इसके लिए फोर्स नहीं कर सकता है. हम लोकतांत्रिक व्यवस्था में हैं.

ब्राह्मण आज भी मार्गदर्शक हैं, धर्मशास्त्री हैं

ब्राह्मण के साथ अच्छे संबंध बनाने पर नियाज खान ने कहा कि ब्राह्मण तो आज भी मार्गदर्शक हैं. बड़े-बड़े कथावाचक हैं. बड़े-बड़े धर्मशास्त्री हैं. सन्यासी हैं. पूरा देश उन्हें फॉलो कर रहा है. लोग उनके प्रवचन सुन रहे हैं. ब्राह्मण से मार्गदर्शन लेने में तीन हजार साल पुरानी कम्युनिटी का इंटेलेक्चुअल रूप में दबदबा रहा है.

‘ब्राह्मण द ग्रेट’ नाम से लिख चुके हैं किताब

बहुत ही बुद्धिजीवी वर्ग रहा है. मेरे तो बहुत सारे ब्राह्मण दोस्त हैं. अच्छे रिलेशन डेवेलेप करते हैं, तो कहीं न कहीं अच्छा मार्गदर्शन ही मिलता है. बता दें कि नियाज खान ने ‘ब्राह्मण द ग्रेट’ नाम से एक किताब लिखी है. इसमें उन्होंने ब्राह्मणों के बारे में विस्तृत रूप से बताया है. साथ ही इस बात पर खुशी जताई कि पूरे देश के ज्यादातर ब्राह्मण उनकी किताब के साथ हैं.

Related Articles

Back to top button