घटना छिपाने रची थी साजिश,आरोपियों ने हत्या कर रेल्वे ट्रैक में फेंकी थी लाश

उमरिया 

रेलवे स्टेशन उमरिया के स्टेशन मास्टर के द्वारा कोतवाली सूचना दी गई थी कि रेल ट्रैक पर किसी अज्ञात व्यक्ति की लाश पड़ी हुई है। इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पंचनामा की कार्यवाही कर लाश की शिनाख्त के लिए प्रयास शुरू किया जा रहा था। हालांकि उसी समय से लाश को देखकर यह अंदेशा जताया जा रहा था कि यह कोई आत्महत्या नहीं बल्कि किसी ने हत्या करके घटना को छिपाने साजिश के तहत लाश को रेलवे ट्रैक में फेंक दी है।

 

 

दरअसल मृतक की शिनाख्ति के पश्चात पता चला कि वह ग्राम जुनवानी थाना कोतवाली का निवासी कैलास सिंह मार्को पिता गोपाल सिंह मार्को के रूप में हुई। जिसके बाद पुलिस के द्वारा मृतक के गांव पहुंचकर मामले की छानबीन की गई तब जाकर पता चला कि घटना दिनांक 5 अक्टूबर को वह अपने साथियों बसंत बैगा,मनीष यादव सहित अन्य लोंगो के साथ देवी जागरण का कार्यक्रम देखने ग्राम लोढ़ा गया था। लेकिन कार्यक्रम देखकर लौटने के समय वह उनके साथ नही था।

जिसके बाद दिनांक 6 अक्टूबर को रेल्वे स्टेशन उमरिया के स्टेशन मास्टर के द्वारा पुलिस को सूचना दी गई कि किसी अज्ञात व्यक्ति की लाश रेल्वे ट्रैक पर पड़ी है।जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने पंचनामा आदि की कार्यवाही कर शव की शिनाख्ति का प्रयास में जुट गए।ट्रैक में बरामद शव को देखकर और उसमें चोट के निशान साफ दिखने से प्रथम दृष्टया यह अंदेशा जताया जा रहा था कि यह आत्महत्या नही है बल्कि इसकी हत्या करके घटना का स्वरूप बदलने इसकी लाश को रेल ट्रैक में फेंक दी गई। पुलिस ने मामले में धारा 302 सहित अन्य धाराओं में कायम कर मामले की विवेचना प्रारम्भ की थी।

 

शव की पहचान कैलाश सिंह मार्को पिता गोपाल सिंह मार्को उम्र 38 वर्ष निवासी जुनवानी थाना कोतवाली उमरिया के रुप में की गई जाँच के दौरान निरीक्षण घटनास्थळ, कथन गवाहान एव पीएम रिपोर्ट पाया गया | कि किसी अज्ञात व्यक्ति के व्दारा किसी ठोस वस्तु से मृतक के चेहरा, सिर आँख में गंभीर चोट पहुचाकर उसकी हत्या कर दी गई है तथा घटना का स्वरुप बदलने के लिए शव को रेल्वे ट्रैक मे फेक दिया है जाँच उपरात अपराध क्रमाक 645/22 धारा 302, 201 भादवि का पंजीबद्ध किया जाकर विवेचना मे लिया गया। मुखबीर सूचना पर संदेही आरोपी मनीष उर्फ करिया लोनी पिता लखन लोनी उम्र 20 वर्ष निवासी लोढा थाना कोतवाली जिला उमरिया, शिब्बू उर्फ शिवम यादव पिता रामरतन यादव उम्र 20 वर्ष निवासी ग्राम लोढा थाना कोतवाली जिला उमरिया से पूछताछ की गई जो अपने जुर्म स्वीकार करते घटना को घटित करना स्वीकार किये है।

पुलिस ने बताया कि दिनाक 05.10.22 की रात ग्राम लोढा मे फाटक टोला में देवी जागरण कार्यक्रम चल रहा था उसी दौरान मृतक से, मनीष लोनी उर्फ करिया और शिब्बू उर्फ शिवम यादव के साथ मृतक कैलाश के गाली गलौज करने पर विवाद हुआ। इसी विवाद के कारण मनीष लोनी अपने साथी शिब्बू के साथ मृतक कैलाश सिंह मार्को को रेल्वे लाईन के पास सूनसान स्थान पर ले गये वहाँ ले जाकर कैलाश को पटक दिये फिर दोनो आरोपी मिलकर कैलाश सिंह मार्को को चेहरे, सिर, आंख मे पत्थरो से वार कर हत्या कर दिये। मारने के बाद उसकी पहचान छुपाने के लिए मृतक को नग्न कर रेल्वे ट्रैक मे फेक दिये थे। घटना में शामिल दोनो आरोपियो को गिरफ्तार किया जा चुका है घटना प्रयुक्त आला जरब जप्त किया गया है। आरोपियों को न्यायिक अभिरक्षा मे को माननीय न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया।

 

अंधी हत्या का खुलासा करने मे श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय श्री प्रमोद कुमार सिन्हा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय श्री प्रतिपाल सिंह महोबिया के मार्गदर्शन मे अनुविभागीय अधिकारी महोदय जितेन्द्र सिंह जाट के पर्यवेक्षण मे तथा थाना प्रभारी निरी राघवेन्द्र तिवारी के निर्देशन मे उनि हरिशंकर शुक्ला, सउनि उमेश कुमार, सउनि सुभाष यादव, सउनि रावेन्द्र तिवारी, सउनि माधव सिह प्रआर 80 आकेश तिवारी, प्रआर 187 बालमुकुन्द आरक्षक रोशन सिंह चौहान, नरवद पेन्ड्रो, कृष्णा कापसे, की सराहनीय भूमिका रही है।

 

Related Articles

Back to top button