मुख्यमंत्री चौहान ने राष्ट्रवादी चिंतक स्व. भगवत शरण माथुर की जयंती पर किया नमन

भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राष्ट्रवादी चिंतक स्व. भगवत शरण माथुर की जयंती पर उन्हें नमन किया। मुख्यमंत्री चौहान ने निवास कार्यालय स्थित सभागार में उनके चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने कहा है कि श्रद्धेय भगवत शरण माथुर जी अपने कृतित्व, संकल्प, समर्पण से हम सभी के बीच आज भी हैं। उनके तेजस्वी और प्रखर विचार सदैव हमें राष्ट्र और समाज-निर्माण के लिए प्रेरित करते रहेंगे।

भगवत शरण माथुर का प्रदेश की अनुसूचित जाति और जनजातियों के कल्याण तथा सहकारिता गतिविधियों को प्रोत्साहित करने में विशेष योगदान रहा है। माथुर ने वनवासी क्षेत्रों में समाज सेवा के कई प्रकल्प संचालित किए। उनके द्वारा राजगढ़ जिले के पिछड़ेपन को दूर करने के लिए आरंभ किया गया अंत्योदय प्रबोधन संस्थान विशेष उल्लेखनीय है। माथुर का सकारात्मक दृष्टिकोण और समस्याओं को सहजता से सुलझाने का स्वभाव उन्हें संगठन में लोकप्रिय बनाता था। माथुर का जन्म 13 अप्रैल 1951 को हुआ था। पश्चिमी मध्यप्रदेश में उन्होंने लंबे समय तक कार्य किया तथा कुशाभाऊ ठाकरे पर “श्रद्धेय” नाम से पुस्तक भी लिखी। उनका अवसान 14 दिसम्बर 2021 को हुआ।

 

Related Articles

Back to top button