7 जिलों के 420 कॉलेजों में सवा लाख स्टूडेंट्स देंगे ऑफलाइन एग्जाम

भोपाल
बरकतउल्ला विश्वविद्यालय 7 जिलों के 420 कॉलेजों में नियमित और प्राइवेट सवा लाख विद्यार्थियों की द्वितीय और तीसरे वर्ष की परीक्षाएं लेगा। उनकी परीक्षाएं एक अप्रैल से शुरू हो रही हैं। परीक्षा के लिए परीक्षा केंद्र तैयार किए जा रहे हैं। वहीं कोरोना संक्रमण के कारण पूर्व में परीक्षाओं से वंचित रहे विद्यार्थियों की परीक्षाएं कराने का कार्यकम बीयू ने जारी कर दिया है।

बीयू को तीस जून के पहले अंतिम वर्ष की परीक्षाओं के रिजल्ट जारी करना है। इसलिये बीयू  एक अप्रैल से तीसरे वर्ष और पांच अप्रैल से द्वितीय वर्ष की परीक्षाएं लेगा। परीक्षा में करीब सवा लाख विद्यार्थी शामिल होंगे। अंतिम वर्ष में 60 हजार और द्वितीय वर्ष की परीक्षा में करीब 62 हजार विद्यार्थी शामिल होंगे। कोरोना संक्रमाण को देखते हुये बीयू परीक्षाओं को तीन-तीन पालियों में आयोजित कराएगा। पहली पाली सुबह सात से से दस बजे, दूसरी 11 से दो बजे और अंतिम पाली दोपहर तीन से शाम छह बजे तक चलेगी। यूजी में करीब ढाई बाद विद्यार्थियों ने परीक्षा केंद्रों पर प्रत्यक्ष रूप से बैठकर पेपर हल करेंगे।

गत दो साल से लगातार हो रहे ओपन बुक एग्जाम कराये जा रहे थे। उच्च शिक्षा विभाग ने कोरोना संक्रमण से बचते हुये आॅफलाइन एग्जाम कराने का निर्णय लिया है। बीयू ने परीक्षा लेने के लिये सात जिलों के 117 परीक्षा केंद्र बनाये हैं।

कोरोनाकाल में हुए ओपन बुक एग्जाम
पिछले दो सालों से कोरोना संक्रमण के चलते प्रदेश के सभी विवि विभाग के आदेश पर ओपन बुक एग्जाम करा रहे थे। वर्तमान सत्र में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर भी अंतिम चरण में पहुंच गई है। इसलिये विभाग ने सभी विवि से आॅफलाइन एग्जाम कराने को कहा है। इसके चलते बीयू भी सभी परीक्षाएं आॅफलाइन कराई जा रही हैं। 2019-20 सत्र में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थी पहली बार आॅफलाइन एग्जाम देंगे। उन्होंने अपने पिछले दो सत्रों में ओपन बुक एग्जाम दिये हैं।

उड़नदस्तों की होगी दस्तक
गत माह बीयू ने पीजी के प्रथम और तीसरे सेमेस्टर की आफलाइन एग्जाम कराया हैं। इसमें उडनदस्तों को आठ विद्यार्थियों को नकल के साथ पकडा था। उनके प्रकरण बीयू के सामने प्रस्तुत किये गये हैं। बीयू प्रकरणों की तफ्तीश कर विद्यार्थियों पर उचित कार्रवाई करेगा। तीनों सत्रों में ज्यादा नकल प्रकरण दर्ज हो सकते हैं। इसलिये उडदस्तों को भी सख्ती करने के निर्देश दिये जाएंगे।

कोरोना संक्रमितों की परीक्षा 23 से
उच्च शिक्षा विभाग ने आदेश किया था कि कोरोना संक्रमित विद्यार्थियों की परीक्षाएं बाद में विशेष तौर पर कराई जाएंगी। इसके तहत बीयू ने उनका कार्यक्रम जारी कर दिया है। पीजी की परीक्षा में करीब 450 विद्यार्थी शामिल होंगे। उनकी परीक्षाएं 23 मार्च से शुरू होंगी। ये वे विद्यार्थी हैं, जो दो माह पूर्व पीजी की परीक्षाएं कोरोना संक्रमण से ग्रसित होने के कारण नहीं दे पाए थे।

Related Articles

Back to top button