एक्सप्रेस-वे का रतलाम से गुजरने वाला 90 किलोमीटर का हिस्सा 7 माह में बन जाएगा

रतलाम
 जिले के निवासियों को जल्द ही एक बड़ी सुविधा मिल जाएगी। जिले के साईसरथुनी गांव के पास से गुजरते 8 लेन दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे के अगले 7 माह में तैयार हो जाने की उम्मीद है। यहां से गुजर रहा यह एक्सप्रसे-वे देश का सबसे लंबा 8 लेन हाईवे है। 6 राज्यों को जोड़नेवाले एक्सप्रेस-वे के बन जाने के साथ ही जिले और मध्यप्रदेश वासियों के दिल्ली और मुंबई आने—जाने में बड़ी सुविधा होगी समय भी बचेगा।

1 लाख करोड़ रुपए में निर्माण
गौरतलब है कि 1380 किमी लंबे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे का रतलाम जिले से 90 किलोमीटर का हिस्सा गुजर रहा है। इसमें से 75 किमी रोड का काम पूरा कर लिया है। निर्माण कंपनी और एनएचई अधिकारियों के अनुसार अक्टूबर तक निर्माण पूरा हो जाएगा।

इसके लिए रोड के साथ पुल-पुलिया का काम भी तेजी से किया जा रहा है। एक्सप्रेस-वे रतलाम जिले के 87 गांवों से होकर गुजर रहा है। इसमें 266 पुल-पुलिया बनना है। 8 लेन पर धामनोद, ईसरथुनी, पलसोड़ी सहित अन्य गांवों में 90 किमी में से 75 किमी रोड का काम पूरा कर लिया गया है।

इसके साथ ही 8 लेन में प्रवेश के पहले लगने वाले टोल के लिए टोल प्लाजा बन रहे हैं। धामनोद और नामली के पास टोल बूथ बनना भी शुरू हो गए हैं। इनका 50 फीसदी काम पूरा कर लिया है। अगले चार महीने में टोल बूथ पूरी तरह बन जाएंगे।

अधिकारियों के अनुसार रोड का काम अक्टूबर तक पूरा कर लिया जाएगा। शुभारंभ के पहले डेढ़ महीने तक ट्रैफिक चलाकर ट्रायल लेंगे और सब कुछ सही पाए जाने पर इसके बाद टोल वसूली शुरु करेंगे। रोड निर्माण के बाद ही वाहनों से ली जानेवाली टोल राशि तय की जाएगी।

एक नजर में एक्सप्रेस वे

  • — 1380 किलोमीटर लंबा
  • — 31 मार्च 2023 तक निर्माण पूरा करने की डेडलाइन
  • — 1 लाख करोड़ रुपए लागत
  • — 06 राज्यों को जोड़ेगा
  • — मध्यप्रदेश से दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र जुड़ेंगे
  • — 12 घंटे में तय होगी दिल्ली से मुंबई की दूरी
  • — अभी लगते हैं 15 से 16 घंटे
  • — रतलाम जिले में 90 किमी लंबाई
  • — जिले में 75 किमी एक्सप्रेस-वे का निर्माण पूरा

Related Articles

Back to top button