ग्रीन एग प्रोजेक्ट के क्रियान्वयन में लायें तेजी : एपीसी सिंह

भोपाल

कृषि उत्पादन आयुक्त (एपीसी) शैलेन्द्र सिंह ने श्योपुर एवं मुरैना में संचालित ग्रीन एग प्रोजेक्ट के क्रियान्वयन में तेजी लाने को कहा है। सिंह ने यह बात राज्य कृषि विस्तार एवं प्रशिक्षण संस्थान बरखेड़ी-कलाँ में ग्रीन एग प्रोजेक्ट की दो दिवसीय कार्यशाला में उपस्थित प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कही।

संचालक कृषि श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने मध्यप्रदेश में कृषि विभाग की उपलब्धियों की जानकारी कार्यशाला में साझा की। उन्होंने बताया कि श्योपुर और मुरैना में संचालित प्रोजेक्ट से एक लाख से अधिक कृषक लाभान्वित होंगे। श्रीमती प्रीति मैथिल ने समान उद्देश्यों वाली अन्य परियोजनाओं की जानकारी भी दी।

कृषि तथा किसान-कल्याण मंत्रालय भारत सरकार, किसान-कल्याण तथा कृषि विकास विभाग मध्यप्रदेश और संयुक्त राष्ट्र फूड एण्ड एग्रीकल्चर ऑर्गेनाइजेशन (एफएओ) के संयुक्त तत्वावधान में कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में श्योपुर और मुरैना में संचालित किये जा रहे ग्रीन एग प्रोजेक्ट पर विस्तार से चर्चा की गई। जैव-विविधता संरक्षण के साथ प्राकृतिक तरीकों से खेती पर भी चर्चा हुई। एफएओ प्रतिनिधि कोंडा रेड्डी ने कहा कि एक लाख हेक्टेयर भूमि पर प्रोजेक्ट संचालित किया जा रहा है। प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉ. आर.बी. सिन्हा ने कहा कि कृषि प्रणाली में बदलाव लाकर वैश्विक पर्यावरण लाभ प्राप्त करना परियोजना का मुख्य लक्ष्य है।

तीन और चार जून को दो दिवसीय कार्यशाला में विभिन्न विभागों के राज्य स्तरीय नोडल अधिकारियों के साथ श्योपुर एवं मुरैना जिले के वन, पशुपालन, उद्यानिकी और कृषि विभाग के अधिकारी और प्रतिनिधि उपस्थित थे।

 

Related Articles

Back to top button