सीएम हेल्पलाइन की ग्रेडिंग में नीचे रहने वाले विभागों पर होगी कार्यवाही – कलेक्टर

लंबित प्रकरणों को विशेष प्रयास कर निराकृत करें – कलेक्टर

रीवा
कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में कलेक्टर मनोज पुष्प ने कहा कि सभी अधिकारी विशेष प्रयास करके सीएम हेल्पलाइन के लंबित प्रकरणों का निराकरण करें। ऊर्जा विभाग, खाद्य विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, पीएचई, स्वास्थ्य विभाग, श्रम विभाग तथा जल संसाधन विभाग की स्थिति बहुत खराब है। इनमें बड़ी संख्या में आवेदन पत्र लंबित हैं। सीएम हेल्पलाइन में यदि विभाग की ग्रेडिंग नीचे रहती है तो संबंधित अधिकारी पर कार्यवाही होगी।
    
कलेक्टर ने कहा कि सभी अधिकारी आज अगस्त माह में प्राप्त आवेदनों का प्राथमिकता से निराकरण करें। लंबित आवेदनों के संबंध में सीधे हितग्राही से ही चर्चा करें। मांग संबंधी आवेदनों को बंद करने की कार्यवाही करें। जिला योजना अधिकारी जनपदों तथा नगरीय निकायों से संपर्क कर जन्म-मृत्यु पंजीयन के प्रकरण निराकृत कराएं। जल संसाधन विभाग द्वारा लंबित आवेदनों के निराकरण में लगातार लापरवाही बरती जा रही है। श्रम विभाग में संबल योजना तथा अनुग्रह राशि के आवेदन लंबित हैं। इनका तत्काल निराकरण कराएं। सभी अधिकारी झण्डा दिवस की राशि एक सप्ताह में अनिवार्य रूप से जमा करा दें।
    
बैठक में कलेक्टर ने कहा कि 17 सितम्बर से जिले भर में जनसेवा पखवाड़ा मनाया जा रहा है। सभी अधिकारी 20 सितम्बर को स्वच्छता दिवस मनाएं। कार्यालय में प्रात: 9 बजे पहुंचकर कार्यालय की विशेष साफ-सफाई कराएं। अनुपयोगी वस्तुओं की नीलामी करें। सभी अधिकारी नगर गौरव दिवस की गतिविधियों में भी अपनी भागीदारी निभाएं। इसके लिए विभागवार निर्देश जारी किए जा चुके हैं। नगर गौरव से जुड़े कार्यक्रमों में इसका मोनो तथा बैनर अवश्य लगाएं। इसके साथ-साथ मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान के भी कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इसके तहत हितग्राहियों के पंजीयन के लिए लगाए जा रहे शिविरों की जानकारी पोर्टल में अनिवार्य रूप से दर्ज करें। जनसेवा पखवाड़े में ऊर्जा साक्षरता का कार्यक्रम 23 सितम्बर को आयोजित किया जाएगा। ऊर्जा विभाग के अधिकारी, नवकरणीय ऊर्जा विभाग के अधिकारी तथा शिक्षा विभाग के अधिकारी मिलकर इस कार्यक्रम को आयोजित करें।
    
बैठक में कलेक्टर ने वृक्षारोपण, खाद के वितरण, आवारा पशुओं पर नियंत्रण, संक्रामक रोगों से बचाव तथा छात्रावासों का शत-प्रतिशत निरीक्षण के संबंध में निर्देश दिए। बैठक में आयुक्त नगर निगम मृणाल मीणा, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी स्वप्निल वानखेड़े, अपर कलेक्टर शैलेन्द्र सिंह तथा संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button