एनसीएल की जमीन पर अवैध अतिक्रमण को प्रशासन ने कराया मुक्त

भारी पुलिस व्यवस्था के बीच गोरबी ब्लॉक बी के 62 अतिक्रमित मकान हुए जमीदोज
सिंगरौली

जिला प्रशासन की देखरेख में एनसीएल की बेशकीमती जमीन पर लंबे अरसे से चले आ रहे अतिक्रमण को आज मुक्त करा लिया गया। गौरतलब है कि हाईकोर्ट के निर्देश के बाद भी अतिक्रमणकारी एनसीएल के मकानों पर अवैध कब्जा जमाए बैठे थे, जिन्हें कई बार नोटिस भी दिया गया था। इसके बाद भी इनके द्वारा मकान खाली नहीं कराया जा रहा था। अब कोर्ट के ऑर्डर के बाद भारी पुलिस व्यवस्था के बीच आज इन मकानों को जमींदोज कर दिया गया है। अतिक्रमण को हटाने से पूर्व किसी भी लॉ एन्ड ऑर्डर की स्थिति से निपटने के लिए सुबह से ही देवसर एसडीएम विकास सिंह, चितरंगी एसडीएम संपदा सराफ, एसडीओपी राजीव पाठक, विन्धनगर निरीक्षक यू पी सिंह, चितरंगी निरीक्षक डी एन राज, गढ़वा निरीक्षक अनिल उपाध्याय, डीएसबी प्रभारी योगेंद्र सिंह, महिला थाना प्रभारी शीतला यादव एवं गोरबी चौकी प्रभारी सुधाकर सिंह परिहार समेत कुल 60 के करीब अतिरिक्त बल की भारी व्यवस्था की गई थी। इसके अतिरिक्त ब्लॉक बी गोरबी जीएम सैयद गौरी समेत एनसीएल प्रबंधन के आला अधिकारी भी मौके पर मौजूद थे। गौरतलब है कि एनसीएल ब्लॉक बी गोरबी परियोजना के एलसीएच मकानों को पूर्व में ही जमीदोज कर वहां नए सिरे से निर्माण कार्य लगाना था परंतु ऐसे करीब 62 मकानों में अतिक्रमणकारियों ने लंबे अरसे से कब्जा कर रखा था। जिला प्रशासन की मदद से आज इन मकानों को जमींदोज कर दिया गया। मंगलवार सुबह ही 6 जेसीबी और 2 पेलोडर की मदद से प्रशासनिक अमला लाव लश्कर के साथ जब अतिक्रमित स्थल पहुंचा तो लोग वास्तु स्थिति समझते हुए अपना अपना सामान लेकर जाने लगे और बिना किसी हंगामे के दोपहर तक अतिक्रमण प्रशासन ने खाली करा दी। ज्ञात हो कि कुछ माह पूर्व जयंत में एनसीएल के जमीन से अतिक्रमण हटाने को लेकर लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति उत्पन्न हो गई थी इसे देखते हुए ही जिला प्रशासन ने इस बार पुख्ता इंतजाम कर रखे थे।

Related Articles

Back to top button