Adult Actress photoshoot News : प्लेबॉय गर्ल रेशमी आर नायर ने प्रसिद्ध गढ़पहरा हुनमान मंदिर में कराया अश्लील फोटोशूट

Adult Actress photoshoot News : एडल्ट एक्ट्रेस रेशमी नायर यहां पहुंची हुई थी। इस दौरान उन्होंने मंदिर परिसर पर अश्लील फोटोशूट करवाई है। उनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद

Latest Adult Actress photoshoot News : उज्जवल प्रदेश, सागर. मध्यप्रदेश के सागर जिले के प्रसिद्ध गढ़पहरा हुनमान मंदिर में एक एडल्‍ट एक्‍ट्रेस द्वारा अश्लील फोटोशूट कराने का मामला सामने आया है। जिसके बाद बवाल मच गया। हिंदू संगठनों ने आपत्ति जताते हुए रेशमी नायर और उसके साथियों पर केस दर्ज करने की मांग की है।

दरअसल, एडल्ट एक्ट्रेस रेशमी नायर यहां पहुंची हुई थी। इस दौरान उन्होंने मंदिर परिसर पर अश्लील फोटोशूट करवाई है। उनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद हिंदू संगठनों ने बवाल मचाना शुरु कर दिया और अब केस दर्ज करने की मांग कर रहे हैं।

इस बाबत में शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने मध्य प्रदेश के एडिशनल एसपी को ज्ञापन सौंपा है। साथ ही रेशमी नायर के खिलाफ FIR दर्ज कराने की मांग की है। बता दें, गढ़पहरा किला परिसर में दो प्रसिद्ध देव हनुमान और अनगढ़ देवी जी के मंदिर हैं। अभी तक बिकिनी मॉडल रेशमी नायर ने जितने सामान्य, अर्धनग्न फोटो पोस्ट किए हैं। उनमें से ज्यादातर शीशमहल, बारादरी और रंगमहल में शूट किए गए हैं।

इस तस्वीरें वरिष्‍ठ पत्रकार रजनीश जैन की फेसबुक पोस्‍ट पर शेयर की हैं। हालांकि मॉडल रेशमी नायर ने इन फोटो में स्थान का नाम नहीं दिया है। उन्होंने ‘समव्हेयर इन मध्यप्रदेश’! लिखकर फोटो शेयर किए हैं।

जुलाई माह का बताया जा रहा है फोटोशूट: अगर फैशन माॅडल रेशमी आर नायर की ऑफिशियल सोशल मीडिया एकाउंट पर इन फोटों की तलाश करें तो ज्यादातर फोटो जुलाई माह की शुरूआत में अपलोड किए गए हैं. सोशल मीडिया पर अपलोड दूसरे फोटो से पता चलता है कि रेशमी आर नायर अपने पति के साथ इंडिया टूर पर निकली थी और उन्होंने देश के कई पर्यटक और धार्मिक स्थानों पर फोटोशूट किया है. जिसमें सेमीन्यूड और बिकनी फोटोग्राफ्स के अलावा कई अश्लील फोटोग्राफ्स हैं. अंदाजा लगाया जा रहा है कि अपने इंडिया टूर के दौरान फैशन माॅडल रश्मि आर नायर NH-44 से गुजरी होगी, जो कश्मीर से कन्याकुमारी को जोड़ता है और इसी हाइवे पर सागर का ऐतिहासिक और प्राचीन किला स्थित है.

फोटो तो अपलोड किए, लेकिन जगह का नाम नहीं दिया: फैशन माॅडल रेशमी आर नैयर ने अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर फोटो अपलोड किए हैं, लेकिन जगह का नाम नहीं दिया है. सागर के गढ़पहरा में शूट किए सेमीन्यूड और सामान्य फोटोज के साथ उन्होने कैप्शन में ‘समव्हेयर इन मध्यप्रदेश’ लिखा है, लेकिन जो लोग बुंदेलखंड के हैं और एनएच-44 से गुजरते हैं, उन लोगों को गढ़पहरा के शीशमहल की जानकारी है, जहां ये फोटोशूट किया गया है.

क्या है गढ़पहरा का इतिहास: गढ़पहरा के किले में स्थित शीशमहल में जहां ये फोटोशूट किया गया है. ऐतिहासिक प्रमाणों के अनुसार ये किला गौड़ राजा संग्रामसिंह के अधिपत्य में था और गौड़ राजाओं के 52 गढ़ों में गढ़पहरा का अहम स्थान था, जिसके अधिपत्य में 360 मौंजे थे. फिर इस किले पर दांगी राजाओं का कब्जा हो गया. इतिहासकार डॉ भरत शुक्ला बताते हैं कि यहां पर 1620 ईस्वी के आसपास वहां पर किला शीशमहल और हनुमान जी के मंदिर का निर्माण कराया था, जो करीब 4 सौ साल पुराना है.

1689 में ये किला मुगलशासन के कब्जे में आ गया और फिर मराठाओं ने किले पर कब्जा कर लिया. 857 की क्रांति में गढ़पहरा किले के तत्कालीन राजा मर्दन सिंह थे, उन्होंने इस किले से विद्रोह का संचालन किया था. उन्होनें शाहगढ़ के राजा बखतबली शाह के साथ मिलकर झांसी के रानी की भरपूर मदद की थी और अंग्रेजों से जमकर लोहा लिया था. हालांकि ब्रिटिश सेना के सामने ये दोनों राजा राह गए थे और समर्पण करना पड़ा था, लेकिन दोनों राजाओं ने अंग्रेजों से जमकर लोहा लिया था.

काफी विवादित माॅडल है रेशमी आर नायर: सागर के वरिष्ठ पत्रकार और इतिहास लेखन में अग्रणी रजनीश जैन ने सोशल मीडिया पर इस हरकत पर सवाल उठाते हुए लेख लिखा है और उसमें उन्होनें बताया है कि “फैशन माॅडल रेशमी नायर विवादास्पद भी रही हैं. बहुचर्चित ‘किस फार लव’ अभियान के दौरान अपनी अश्लील हरकतों में चर्चा में आई थी. रजनीश जैन ने अपने लेख में लिखा है कि इसी अभियान में बेंगलुरु की नाबालिग लड़कियों के शोषण के आरोप में माॅडल और उसके पति की पॉक्सो एक्ट में गिरफ्तारी भी हो चुकी है.”

शिवसेना ने उठाया एतराज: शिवसेना मध्य प्रदेश के उप राज्य प्रमुख पप्पू तिवारी का कहना है कि “गढ़पहरा किला जितना ऐतिहासिक महत्त्व का है, उतना ही धार्मिक महत्व का है. 1857 की क्रांति का इतिहास गढ़पहरा किले से जुड़ा हुआ है और किले परिसर में स्थित हनुमान मंदिर और अनगढ़ देवी का मंदिर सिर्फ सागर वासियों के लिए नहीं बल्कि पूरे बुंदेलखंड में आस्था का केंद्र है. ऐसे ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व के स्थान पर इस तरह की हरकत सहन करने योग्य नहीं है. इस मामले में हम पुलिस में शिकायत दर्ज कराएंगे.”

पुलिस को नहीं मिली कोई शिकायत: यह इलाका सागर के कैंट थाना इलाके के अंतर्गत आता है. इस मामले में “कैंट थाना में संपर्क करने पर इस तरह की किसी शिकायत थाने में नहीं आने की बात थाना प्रभारी गौरव तिवारी ने कही है.”

Related Articles

Back to top button