विधायकों की आपत्ति के बाद अब प्रदेश के छात्रावासों में नियमित स्वास्थ्य परीक्षण

भोपाल
प्रदेश के स्कूलों के छात्रावासों  में विद्यार्थियों का स्वास्थ्य परीक्षण नहीं हो रहा है। इसको लेकर विधायकों और प्राक्कलन समिति की आपत्ति के बाद अब स्कूल शिक्षा विभाग ने एक बार फिर स्कूलों के छात्रावासों में नियमित स्वास्थ्य परीक्षण शुरु कराने का फरमान जारी किया है।

विधानसभा में विधायकों की प्राक्कलन समिति के पास शिकायतें आई है कि प्रदेश के छात्रावासों में रहने वाले स्कूली विद्याथर््िायों का स्वास्थ्य परीक्षण नियमित नहीं किया जा रहा है। कांग्रेस विधायक हीरालाल अलावा ने बाकायदा जिला धार में छात्रावासों मं नियमित रुप से स्वास्थ्य परीक्षण नहीं किए जाने के सबूत के साथ शिकायत प्राक्कलन समिति के समक्ष की थी। इसके बाद अब राज्य शिक्षा केन्द्र के संचालक धनराजू एस ने सभी कलेक्टरों को फरमान जारी कर छात्रावासों में रहने वाले स्कूली विद्यार्थियों के नियमित स्वास्थ्य परीक्षण कराने की व्यवस्था कराने के फरमान जारी किए है। इस संबंध में उन्होंने वर्ष 2017 में जारी स्कूल शिक्षा विभाग, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य के निर्देशों और इस साल स्कूल शिक्षा विभाग के उपसचिव द्वारा जारी निर्देशो का भी स्मरण कराते हुए उनका पालन करने को कहा है।

प्रदेश में डेंगू, मलेरिया, टोमेटो फीवर का जोर, माता-पिता चिंतित
प्रदेश में इस समय बारिश का मौसम समाप्त हो रहा है और मच्छरों का प्रकोप बढ़ा हुआ है। ऐसे में प्रदेशभर में डेगंू, मलेरिया, वाइरल फीवर, टोमेटो फीवर के रोगियों की संख्या बढ़ रही है। लेकिन छात्रावासों में रहने वाले विद्यार्थियों का स्वास्थ्य परीक्षण नहीं होंने के कारण इन बच्चों के माता-पिता चिंतित है।  बच्चों के पालकों ने क्षेत्रीय विधायकों को इस समस्या के बारे में बताया था। इसके बाद विधायकों ने इस मामले को प्राक्कलन समिति के समक्ष रखा था।

Related Articles

Back to top button