प्रदेश में साख जमा अनुपात को बढ़ाने का पूरा प्रयास करें बैंकर्स : मुख्यमंत्री चौहान

भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बैंकर्स प्रदेश में साख जमा अनुपात को बढ़ाने का पूरा प्रयास करें। जनजातीय बहुल जिलों में बैंकों की शाखाएँ बढ़ाकर ऋण स्वीकृति पर अधिकाधिक ध्यान दें।

मुख्यमंत्री चौहान आज निवास कार्यालय में राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति की 182 वीं बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस सहित वरिष्ठ अधिकारी एवं बैंकर्स मौजूद थे। मुख्यमंत्री चौहान ने बैठक में वार्षिक साख योजना 2022 -23 की पुस्तिका का विमोचन भी किया।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना में ज्यादा से ज्यादा ऋण प्रकरण स्वीकृत कर हितग्राहियों को लाभान्वित करें। प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना में स्वीकृत प्रकरणों का वितरण समय पर हो। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि निजी क्षेत्र की बैंक सामाजिक दायित्व का निर्वहन कर पीएम स्व-निधि योजना के प्रकरण स्वीकृत करें। मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना में भी स्वीकृत प्रकरणों के मुताबिक वितरण की कार्यवाही हो। उन्होंने एचडीएफसी बैंक द्वारा कम लक्ष्य प्राप्त किए जाने पर और राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन योजना में कम प्रगति पर अप्रसन्नता व्यक्त की। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की प्रगति पर संतोष जाहिर किया। उन्होंने कहा कि महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए तेजी से कार्य करें। वार्षिक लक्ष्य प्राप्त करने के लिए हर माह का लक्ष्य तय किया जाये।

मुख्यमंत्री चौहान ने राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन योजना की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने केसीसी पशुपालन एवं मत्स्य-पालन की प्रगति बढ़ाने पर जोर दिया। किसानों की आय दोगुना करने और मत्स्य-पालकों की स्थिति ठीक करने के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्यम उन्नयन योजना की प्रगति बढ़ाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत सरकार की यह महत्वपूर्ण योजना है। इस पर गंभीरता से पूरा ध्यान देकर कार्य करें। स्व-रोजगार योजना में एनपीए का वसूली प्रतिशत बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सामाजिक सुरक्षा योजनाओं की प्रगति बढ़ाई जाए।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश स्टार्टअप नीति एवं कार्यान्वयन योजना-2022 में बैंकर्स तेजी से कार्य करें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्टार्टअप पर बहुत जोर दे रहे हैं। मध्यप्रदेश स्टार्टअप नीति का अच्छे ढंग से कार्यान्वयन सुनिश्चित कर तेजी से आगे बढ़ायें। युवाओं को अधिकाधिक रोजगार दिलाएँ। बैठक में स्विफ्ट इंडिया ऑटोमेटेड ई- स्टाम्पिंग पर चर्चा की गई। मुख्यमंत्री चौहान ने इसका उपयोग शुरू कराने की बात कही।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने का पूरा प्रयास करें। मध्यप्रदेश विकासशील राज्य से विकसित राज्य की ओर बढ़ रहा है, इसलिए सीडी रेशियो पर गंभीरता से ध्यान दें। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण की दिशा में बड़ा कदम उठाया जाए। समूहों को आगे बढ़ाने के लिए अधिकाधिक ऋण स्वीकृत करें। अनुसूचित जाति, जनजाति एवं कमजोर वर्गों के रोजगार सृजन पर ध्यान दें। प्रदेश में हर माह रोजगार दिवस मनाया जाएगा। हर माह का लक्ष्य निर्धारित कर रोजगार दिलायें। महत्वाकांक्षी योजनाओं के लक्ष्य पूरा कर बेरोजगार शिक्षित युवाओं को रोजगार प्रदान करें। कमजोर वर्गों में उद्यमशीलता बढ़ाने के पूरे प्रयास करें। उन्होंने 30 मई को रोजगार दिवस आयोजित करने के निर्देश दिए।

 

Related Articles

Back to top button