हितग्राही मूलक योजना : 5 माह बाद फिर शुरू होगी कलेक्टर-कमिश्नर कॉन्फ्रेंस

भोपाल
प्रदेश में पिछले पांच माह से अटकी कलेक्टर-कमिश्नर कांफ्रेंस फिर शुरू होने वाली है। सीएम सचिवालय ने कलेक्टरों को संकेत दिए हैं कि अक्टूबर माह के दूसरे सप्ताह में कलेक्टर कमिश्नर कांफ्रेंस के जरिये सरकार की योजनाओं और जिलों की ग्रेडिंग की समीक्षा की जाएगी। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये होने वाली इस कांफ्रेंस के दोबारा शुरू होने की जानकारी के बाद जिलों और संभागों में कलेक्टर, कमिश्नर, आईजी, एसपी पुराने एजेंडों के क्रियान्वयन की रिपोर्ट लेने में जुट गए हैं।

प्रशासनिक सूत्रों का कहना है कि इसी सप्ताह बैठक का एजेंडा जारी हो सकता है और इसके बाद अगले माह बैठक की जानकारी कलेक्टरों को दी जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की बैठक तारीख को लेकर सहमति मिलना बाकी है। बताया गया कि मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान में हितग्राही मूलक योजनाओं के परफार्मेंस को देखते हुए आगामी बैठक में इस पर ज्यादा फोकस किया जाएगा। इसके साथ ही अगले साल होने वाली चुनाव के मद्देनजर सड़क और अन्य विकास कार्यों पर भी सरकार का फोकस रहेगा। इसलिए अधिकारियों को इससे संबंधित प्रोजेक्ट्स और योजनाओं के क्रियान्वयन के काम में तेजी लाने के संकेत दिए गए हैं। कलेक्टरों और विभाग प्रमुखों का सबसे अधिक फोकस जिलों में सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण को लेकर है क्योंकि इसमें कई हितग्राहीमूलक योजनाओं के पात्र लाभ न मिलने की शिकायतें करते हैं। अफसरों को इस बात की चिंता भी है कि कमजोर परफार्मेंस पर सीएम चौहान की सीधी नाराजगी का सामना नहीं करना पड़े।

तबादले का भी इंतजार
इधर चूंकि राज्य सरकार ने पांच अक्टूबर तक तबादलों पर प्रतिबंध हटा रखा है। इसलिए कई विभागों में अधिकारी तबादले की अवधि बीतने का इंतजार कर रहे हैं ताकि स्थानांतरित होने की दशा में नई ठीहे पर नई तैयारी के साथ काम शुरू कर सकें। इस फेरबदल में कलेक्टर, एसपी भी प्रभावित होने वाले हैं।

Related Articles

Back to top button