MP Breaking News: भोपाल की नई लैब में होगी सभी नशीले पदार्थों की जांच

MP Breaking: नशे पर तगड़ा प्रहार करने के प्रदेश सरकार के निर्देश अब कोई कारगर साबित होने वाले हैं। दरअसल केमिकल ड्रग्स को पकड़ने के बाद पुलिस मादक पदार्थ की तस्करी करने वालों पर तुरंत और सख्त कार्रवाई कर सके इसलिए मध्यप्रदेश की फोरेंसिक साइंस लैब (FSL) में एनडीपीएस की नई लैब बनकर तैयार हो गई है।

MP Breaking: उज्जवल प्रदेश, भोपाल. नशे पर तगड़ा प्रहार करने के प्रदेश सरकार के निर्देश अब कोई कारगर साबित होने वाले हैं। दरअसल केमिकल ड्रग्स को पकड़ने के बाद पुलिस मादक पदार्थ की तस्करी करने वालों पर तुरंत और सख्त कार्रवाई कर सके इसलिए मध्यप्रदेश की फोरेंसिक साइंस लैब (एफएसएल) में एनडीपीएस की नई लैब बनकर तैयार हो गई है।

इस लैब में एमडीएमए जैसे खतरनाक ड्रग्स के सैंपल की जांच हो सकेगी। प्रदेश में नए ड्रग्स की संख्या 100 से अधिक है। अब तक एफएसएल लैब में गांजा, भांग, चरस, अफीम और ब्राउन शुगर जैसे पांच प्रकार के सामान्य मादक पदार्थों के ही सैंपल होते हैं।

प्रदेश की चार लैब में एनडीपीएस के लगभग 2500 सैंपल पेडिंग हैं। इन दिनों नशे करने वाले एमडीएमए जैसे खतरनाक केमिकल ड्रग्स का इस्तेमाल करने लगे हैं। लेकिन इनके पकड़े जाने के बाद सैंपल सीएफएसएल भेजना पड़ते थे। अब नए ड्रग्स के सैंपल के लिए एफएसएल मुख्यालय में एनडीपीएस की लैब में एमडीएमए जैसे खतरनाक 100 से ज्यादा नए केमिकल ड्रग्स का सैंपल शुरू हो जाएंगे। इसकी पहली लैब भोपाल एफएसएल में बनकर तैयार हो गई है।

ALSO READ

नए प्रकार के ड्रग्स सैंपल के लिए लैब में जीसीएमएसएमएस और एफटीआईआर मशीन लग चुकी हैं। लैब में यूवी मशीन पहले से ही उपलब्ध है। एक लैब में जीसीएमएसएमएस और एफटीआईआर मशीन लगाने का खर्च लगभग ढाई करोड़ रुपए है। सैंपल मिलान के लिए एफएसएल को नारकोटिक्स से मिथाइलीन डाइ ऑक्सी मेथैमफेटामाइन (एमडीएमए) के सैंपल चाहिए, इसके लिए प्रस्ताव भेजा गया है। सैंपल आते ही लैब काम करना शुरू कर देगी।

अभी लगता है एक से डेढ़ माह का समय

नई तकनीक की जीसीएमएसएमएस और एफटीआईआर में नए ड्रग्स का सैंपल मिलाने करने में केवल 15 मिनट का समय लगेगा। अभी पुलिस जिन ड्रग्स को जब्त करती है, उनके सैंपल सीएफएसएल लैब भेजे जाते हैं। जहां से रिपोर्ट आने में एक से डेढ़ महीने का समय लगता है।

Bhopal Crime News: 4 गुंडों ने युवक के गले में पट्टा बांध किया कुत्ते जैसा व्यवहार, गृह मंत्री ने दिए जांच के निर्देश

Show More

Related Articles

Back to top button