MP News : मेडिकल कॉलेज में 2 महीने से वेतन नहीं मिलने पर 350 कर्मचारियों ने फिर की हड़ताल, गेट पर दिया धरना

Latest MP News : फिर BMC में कर्मचारियों ने हड़ताल कर दी हैं। यहां आउटसोर्स कंपनी के अधीन करीब 350 कर्मचारी तैनात है, इन्हें दो महीने से वेतन नहीं मिला। सुबह कर्मचारी लामबंद होकर ओपीडी गेट पर आकर धरना देकर बैठ गए।

Latest MP News : उज्जवल प्रदेश, भोपाल. बुधवार को फिर BMC में कर्मचारियों ने हड़ताल कर दी हैं। यहां आउटसोर्स कंपनी के अधीन करीब 350 कर्मचारी तैनात है, इन्हें दो महीने से वेतन नहीं मिला। सुबह कर्मचारी लामबंद होकर ओपीडी गेट पर आकर धरना देकर बैठ गए।

सीएम शिवराज सिंह के ड्रीम प्रोजेक्ट कहे जाने वाले सागर के बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में विवाद, समस्याएं और परेशानी पीछा नहीं छोड़ रहे हैं। निचले स्तर पर काम करने वाले कर्मचारियों को दो-दो महीने वेतन नहीं मिला हैं जिस कारण बुधवार सुबह सैकड़ों कर्मचारी हड़ताल पर चले गए। हफ्ते में यह दूसरी बार हड़ताल की गई हैं। सफाई, सुरक्षा, लैब, ओपीडी, पंजीयन काउंटर सहित अन्य जगह तैनात कर्मचारियों ने कामबंद कर गेट पर धरना दे दिया, जिससे प्रबंधन के हाथ-पैर फूल गए।

Sagar मेडिकल कॉलेज में वेतन के लाले

सागर के बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में शनिवार को वेतन की मांग को लेकर कर्मचारियों ने हड़ताल कर दी थी। अधीक्षक के आश्वासन के बाद हड़ताल समाप्त कर दी थी, लेकिन पांच दिन बाद भी कर्मचा​रियों का वेतन नहीं आया तो बुधवार सुबह फिर सभी कर्मचारी लामबंद होकर हड़ताल पर चले गए।

हड़ताल करने वालों में आउटसोर्स पर हाईट्स कंपनी के माध्यम से लगे लैब टेक्नीशियन, कंप्यूटर आपरेटर, वार्डबाय, अन्य टेक्नीशियन, स्वीपर सहित पूरे सुरक्षागार्ड तक शामिल हैं। करीब 350 से अधिक कर्मचारी हड़ताल कर रहे हैं। बता दें कि हाईट्स कंपनी की मनमानी को लेकर साल में तीन-चार दफा हड़ताल होना बीएमसी में आम बात हो गई है। कंपनी कभी भी कर्मचारियों को समय पर वेतन का भुगतान नहीं करती है।

बीएमसी में बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के हाईट्स कंपनी के सुपरवाइजर नीतेश चुटीले ने बताया कि कर्मचारी वेतन की मांग को लेकर कंपनी के अधिकारियों के आश्वासन से परेशान हो गए हैं। महज 6 से 8 हजार वेतन मिलता है। नवंबर महीने का वेतन अभी तक नहीं दिया। दो-चार महीनों में हड़ताल करनी पड़ती है।

अभी शनिवार को जब हड़ताल की थी तो अधीक्षक ने कंपनी के अधिकारियों हो हड़काया तो कुछ कर्मचारियों की आधी-आधी सेलरी डाल दी। कर्मचारियों में फूट डालने का प्रयास कंपनी कर रही है। हम सभी कर्मचारी संगठित हैं और जब तक सभी का वेतन नहीं आएगा हड़ताल समाप्त नहीं करेंगें।

Related Articles

Back to top button