MP News : 70 हजार नर्सिंग स्टूडेंट्स का भविष्य खतरे में, 3 साल से नहीं हुई परीक्षा

MP News : नर्सिंग स्टूडेंट्स की परेशानियां कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। स्टूडेंट्स का कहना है कि वे पिछले तीन साल से एक ही कक्षा में पढ़ाई कर रहे हैं, हम लोग परीक्षा की तैयारी करते हैं और एनवक्त पर परीक्षा निरस्त कर दी जाती है।

MP News : उज्जवल प्रदेश, भोपाल. नर्सिंग स्टूडेंट्स की परेशानियां कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। पिछले तीन साल से परीक्षाएं नहीं होने से प्रदेशभर के करीबन 70 हजार से अधिक स्टूडेंट्स का भविष्य खतरे में पड़ गया है। स्टूडेंट्स का कहना है कि वे पिछले तीन साल से एक ही कक्षा में पढ़ाई कर रहे हैं, हम लोग परीक्षा की तैयारी करते हैं और एनवक्त पर परीक्षा निरस्त कर दी जाती है।

वर्ष 2020-21 की परीक्षा एक साल पहले ही हो जाना थी। जो कि अब तक नहीं हुई है। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों की डिग्री में देरी हो रही है। दरअसल आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर की तरफ से घोषित की गई परीक्षा फिर से निरस्त कर दी है, यह तीसरी बार है, जब परीक्षा निरस्त की गई है। पिछले तीन साल से नर्सिंग कॉलेज में परीक्षा नहीं हुई है, जिससे 70 हजार से ज्यादा विद्यार्थियों का भविष्य अंधकार में पहुंच गया है।

एनएसयूआई मेडिकल विंग के संयोजक रवि परमार ने बताया कि पहले लॉकडाउन और कोरोना का बहाना बनाकर एग्जाम नहीं हुए और वर्तमान में अभी तक छात्रों को एनरोलमेंट नहीं हुआ है, इससे परीक्षा में देरी होने से विद्यार्थियों को आर्थिक बोझ उठाना पड़ रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि परीक्षा जल्द करवाई जाए।

फर्जी नर्सिंग कॉलेज का नहीं सुलझा मामला

फर्जी नर्सिंग कॉलेज का मामला अभी तक नहीं सुलझा है जिससे मप्र में नर्सिंग कॉलेजों के फर्जीवाड़े से करीब 11 हजार छात्रों का भविष्य खतरे में पड़ गया है। नर्सिंग काउंसिल की रजिस्ट्रार सुनीता सिजू को सस्पेंड कर दिया गया था। इसके साथ ही 93 नर्सिंग कॉलेजों की मान्यता रद्द की गई थी।

Related Articles

Back to top button