MP News : सीसीएफ और रेंजर का ऑडियो वायरल, मचा हड़कंप

MP News : ‘आप स्टाफ को फोन लगाकर पैसे के लिए बुला रहे हैं। नर्सरी से कम दरों पर भुगतान हो रहा है। आपने बांस के पौधे गायब करवा दिए करोड़ों के मैं आपके खिलाफ एफआईआर करा रहा हूं

MP News : उज्जवल प्रदेश, भोपाल. ‘आप स्टाफ को फोन लगाकर पैसे के लिए बुला रहे हैं। नर्सरी से कम दरों पर भुगतान हो रहा है। आपने बांस के पौधे गायब करवा दिए करोड़ों के मैं आपके खिलाफ एफआईआर करा रहा हूं लोकायुक्त प्रकरण में, मंै विधानसभा में सवाल उठवाऊंगा। पैसे आप खाओ हम जिम्मेदार कैसे हैं, मंै आपको इतना बुरा उलझाऊंगा जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते।’

बैतूल जिले के तत्कालीन सीसीएफ अनिल सिंह और रेंजर सुनील जैन के बीच हुए संवाद का यह आॅडियो वायरल होने से पूरे फारेस्ट महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। प्रधान मुख्य वन संरक्षक आरएंडडी अतुल जैन का कहना है कि इस मामले में जो तथ्य आएंगे उनका परीक्षण कर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

वन विभाग की नर्सरियों के भुगतान से जुड़ा मामला

पूरा मामला बैतूल जिले में वन विभाग की नर्सरियों के भुगतान से जुड़ा हुआ है। बैतूल के रेंजर सुनील जैन ने बैतूल में पदस्थ रहे सीसीएफ आरएंडडी अनिल सिंह(वर्तमान में सागर में पदस्थ) से बातचीत करते हुए ऑडियो रिकार्ड किया और उसे वाइरल कर दिया। इस ऑडियो में रेंजर सुनील जैन सीसीएफ अनिल सिंह से कह रहे है कि आप स्टाफ को को फोन लगाकर पैसे के लिए बुला रहे है।

हमारा पूरा पेमेंट नहीं हुआ है, इसमें एफआईआर हो रही है मैं अपनी किसी भी नर्सरी में कम रेट से पेमेंट नहीं करुंगा, ना मंै पैसा दूंगा और न स्टाफ को देने दूंगा। आपके खिलाफ एफआईआर करा रहा हूं लोकायुक्त में। आपकी सारी नर्सरियों में कम दरों से भुगतान हो रहा है। न आपने पूरा पेमेंट कराया न आपकी कोई एसडीओ सुनता है। लोकायुक्त में मेरे स्टेटमेंट हुए है। आप आरएंडडी में बुरी तरह से उलझे हुए हो आप कल्पना भी नहीं कर सकते। मै उलझाऊंगा आपको, मेरी एक साल की नौकरी बची है। मैने नीमा को मैने परेशान कर डाला, सुबुद्धि भी हुए, उचाड़िया भी हुए है।

रेंजर का आरोप: आप कम दाम की बिलिंग करा रहे हैं…

ऑडियो में रेंजर यह कहते सुने जा सकते हैं कि…आपने निशुल्क पौधे बंटवाए है, मैं आपसे वसूली करवाऊंगा । आपने बांस के पौधे गायब करवा दिए करोड़ों रुपए के मै विधानसभा सवाल करवा रहा हूं। मंै सामने लड़ाई लडता हूं पीछे से वार नहीं करता। मेरे पास एक-एक चीज है।

कल मै और मधुकर चतुर्वेदी गये थे लोकायुक्त में बयान दर्ज कराए है। कम दरों पर भुगतान क्यों करुं मैं। आपने कह दिया रोपणी प्रभारी जिम्मेदार है। आपने कह दिया रेंज अफसर जिम्मेदार है। पैसे आप खाओ इसके लिए हम जिम्मेदार कैसे।

धमकी: आपको ट्रैप कराऊंगा, पैसे खुद दूंगा,मुझे हटा दीजिए

मैं एफिडेविट दे रहा हूं कम दरों से आप भुगतान करा रहे है। मेरे पास वाऊचर है। आपने तीन चार वाऊचरों में डबल-डबल पेमेंट करवा दिए आपने। मै आपको डीओ लेटर लिख रहा हूं। मैं आपको ट्रैप कराऊ्रंगा। मैं क्यों कम दरों से भुगतान करूं नर्सरियों में। अपने अभी गंगा मैडम को फोन किया प्रभारियों को डायरेक्ट बुला रहे मीटिंग मेें आईए जानकारी लेकर आईए। आप कल्पना नहीं कर सकते इतनी बड़ी उठापटक करुंगा । आप मुझे हटा दीजिए किसी को दे दीजिए नर्सरी का प्रभार।

Related Articles

Back to top button