AIIMS Bhopal में दुर्लभ 2 फीट लंबे प्लेक्सिफॉर्म न्यूरोफाइब्रोमा का किया ऑपरेशन

AIIMS Bhopal के न्यूरोसर्जरी विभाग में अशोक नगर निवासी 31 वर्षीय व्यक्ति की पीठ पर 2 फीट लंबे ट्यूमर की दुर्लभ सर्जरी की गई । ट्यूमर अत्यंत वैस्कुलर था, इसका वजन करीब 4.5 किलोग्राम था ।

उज्जवल प्रदेश, भोपाल. AIIMS Bhopal के न्यूरोसर्जरी विभाग में अशोक नगर निवासी 31 वर्षीय व्यक्ति की पीठ पर 2 फीट लंबे ट्यूमर की दुर्लभ सर्जरी की गई । ट्यूमर अत्यंत वैस्कुलर था, इसका वजन करीब 4.5 किलोग्राम था । न्यूरोसर्जरी ओपीडी में आए एक 31 वर्षीय व्यक्ति को पीठ के ऊपर भयानक सूजन दिखाई दी और उसे पूर्ण मूल्यांकन के लिए भर्ती कराया गया ।

रोगी की पीठ पर कई सूजन थी लेकिन एक सूजन पिछले 30 वर्षों में धीरे-धीरे आकार में बढ़ती गई और अब रोगी के लिए असहनीय हो गई थी । एमआरआई तथा सीटी स्कैन स्पाइन किया गया, जिसमें पीठ पर एक विशाल ट्यूमर था, जो स्पाइन और मीडियास्टिनम को प्रभावित कर रहा था । यह अत्यधिक वैस्कुलर था और रीढ़ की हड्डी को विकृत कर रहा था, जिससे इसका ऑपरेशन करना बेहद चुनौतीपूर्ण था । डॉक्टरों की अंतर्विभागीय बैठक में प्रो. अमित अग्रवाल, डॉ. आदेश श्रीवास्तव, डॉ. सुमित राज, डॉ. प्रदीप चौकसे द्वारा यथाशीघ्र ऑपरेशन करने का निर्णय लिया गया ।

सर्जरी डॉ. कौस्तव साहा के साथ डॉ. सुमित राज और डॉ मनाल खान (प्लास्टिक सर्जन) द्वारा की गई । अत्यंत सावधानीपूर्वक मरीज को सर्जरी के लिए ले जाया गया । रोगी का 6 दिसंबर 2022 को ऑपरेशन किया गया । सर्जरी के अंत में पेशेंट प्रायमरी क्लोजर किया गया और सर्जरी का लक्ष्य हासिल किया गया । उसे अगले ही दिन चलाया गया और अब वह अपनी पीठ पर भारी वजन से राहत महसूस कर रहा है । एनेस्थीसिया टीम में डॉ. जे पी शर्मा और डॉ. अनुपमा शामिल थीं । यह एक अत्यंत दुर्लभ बीमारी है । ऐसी सर्जरी केवल विशेष केंद्रों पर ही की जाती हैं और रोगी को कुछ भी अतिरिक्त भुगतान नहीं करना पड़ा क्योंकि वह आयुष्मान लाभार्थी था ।

प्लेक्सिफ़ॉर्म न्यूरोफ़िब्रोमा क्या है?

न्यूरोफाइब्रोमैटोसिस (एनएफ) टाइप 1 (वॉन रेक्लिंगहॉसन एनएफ) एक आनुवांशिक विकार है जो जन्म लेने वाले 4000 व्यक्तियों में से 1 को होता है। यह परिवर्तनशील पेनिट्रेंस के साथ एक ऑटोसोमल डोमेनिंट पैटर्न में अंतर्निहित होता है; हालाँकि, 50% मामले स्वतःस्फूर्त उत्परिवर्तन के कारण हो सकते हैं । यह रोग क्रोमोसोम एल 7 पर एक ट्यूमर सप्रेसर जीन में एक दोष के परिणामस्वरूप होता है, जो प्रभावित व्यक्तियों को विभिन्न प्रकार के मामूली और घातक ट्यूमर विकसित करने के जोखिम उत्पन्न करता है।

Show More
Back to top button
Join Our Whatsapp Group