Suicide Case News : दंपती के सुसाइड मामले में 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया, आरोपियों में बैंक कर्मचारी-कारोबारी भी

Suicide Case News : खाताधारक और यस बैंक के कर्मचारी समेत 5 लोगों को 1.80 लाख रुपए कमीशन मिला था। पुलिस अब उस आरोपी की तलाश कर रही है, जिसने कमीशन दिया था। एक टीम दिल्ली भी भेजी जानी है।

Latest Suicide Case News : उज्जवल प्रदेश, भोपाल. भोपाल में दो बेटों को जहर देकर मारने के बाद दंपती के सुसाइड मामले में 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। सुसाइड करने वाले इंश्योरेंस एजेंट भूपेंद्र विश्वकर्मा के बैंक ऑफ बड़ौदा के खाते से भोपाल में यस बैंक के एक खाते में 95,700 रुपए ट्रांसफर हुए थे। इसी बेस पर पुलिस ने गिरफ्तारी की है। खाताधारक और यस बैंक के कर्मचारी समेत 5 लोगों को 1.80 लाख रुपए कमीशन मिला था। पुलिस अब उस आरोपी की तलाश कर रही है, जिसने कमीशन दिया था। एक टीम दिल्ली भी भेजी जानी है।

पुलिस ने 38 दिन की मेहनत के बाद भोपाल में रहने वाले इन पांचों आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक कारोबारी और बैंककर्मी भी शामिल है। 23 दिन पहले इसी केस में राजस्थान के टोंक से खलील को पकड़ा गया था। खलील फेक बैंक अकाउंट जालसाजों को प्रोवाइड कराता था। उसने 40 हजार रुपए में जालसाजों को अपना खाता किराए पर दिया था।

जानकारी के अनुसार मूलत: रीवा निवासी भूपेंद्र कुमार विश्वकर्मा (38) यहां शिव विहार कालोनी में अपनी पत्नी रितु विश्वकर्मा (34), बेटे रितुराज (8) और रिषीराज (3) के साथ रहते थे। बीती 13 जुलाई को उन्होंने दोनों बच्चों को माजा में जहर पिलाने के बाद पत्नी समेत फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। पुलिस ने भूपेंद्र के घर से चार पन्नों का एक सुसाइड नोट बरामद किया था, जिसमें उन्होंने अपने साथ हुई जालसाजी के बारे में विस्तार से बताया है। दरअसल वह पार्ट टाइम जाब के चक्कर में आनलाइन जालसाजों के चंगुल में फंस गए थे। आनलाइन लोन देने वाले ऐप के माध्यम से उन पर करीब 17 लाख रुपये का लोन हो गया था। जालसाज लोन चुकाने के लिए दबाव डाल रहे थे और उन्हें बदनाम करने लगे थे। पुलिस ने इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने, धोखाधड़ी करने और आईटी एक्ट की धाराओं के तहत केस दर्ज किया था।

एसआईटी कर रही मामले की जांच

मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच के लिए एसआईटी की गठन किया गया था। एसआईटी ने जालसाजों को बैंक खाता उपलब्ध कराने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार किया था। उसके बाद यह दूसरी सबसे बड़ी गिरफ्तारी है। इस बार पुलिस ने अमायरा ट्रेडर्स के प्रोपराइटर शारिक बेग निवासी ईंटखेड़ी, अरशद बेग निवासी तलैया, मोहम्मद उबेस निवासी हनुमानगंज, शाहजवां खान निवासी तलैया और फरहान रहमान निवासी अशोका गार्डन को गिरफ्तार किया गया है।

आरोपितों को कमीशन के मिले 1.80 लाख

रातीबड़ थाना प्रभारी हेमंत श्रीवास्तव ने बताया कि भूपेंद्र विश्वकर्मा के बैंक आफ बड़ौदा के खाते से हमीदिया रोड भोपाल स्थित यस बैंक में स्थित अमायरा ट्रेडर्स के नाम से खुले खाते में रुपये ट्रांसफर हुए थे। अमायरा ट्रेडर्स का प्रोपराइटर शारिक बेग है। उसने बैंक कर्मचारी फरहान की मदद से यह खाता खुलवाया था। उसके खाते में आई रकम के बदले कमीशन के तौर पर 1.80 लाख रुपए मिले थे, जिन्हें आरोपित ने आपस में बांट लिए थे। हालांकि खाते में रुपये ट्रांसफर करवाने वाले जालसाज की गिरफ्तारी अभी नहीं हो पाई है।

Related Articles

Back to top button