मांडू में चल रहे भाजपा प्रशिक्षण वर्ग का आज समापन, शिवराज, वीडी समेत दिग्गज नेता रहे मौजूद

भोपाल
भाजपा के कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी है कि वे जो भी बोलें, प्रामाणिकता के साथ बोलें, ऐसी बातें नहीं कहें कि उन्हें जनता के बीच चेहरा छिपाना पडेÞ। पार्टी का हर कार्यकर्ता पार्टी का चेहरा होता है, इसलिए सभी कार्यकर्ताओं खासतौर पर जिला अध्यक्षों और अन्य पदाधिकारियों को अपनी बॉडी लैंग्वेज, आचरण, खाना-पीना, उठना-बैठना और अपनी कार्य पद्धति ऐसी रखनी चाहिए कि कोई आपत्ति न कर सके। चूंकि हम राजनीतिक दल के सदस्य होने के साथ सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में भी काम करते हैं। इसलिए हम पर सबकी निगाहें होती हैं। इसका सभी को ध्यान रखना है और पार्टी के कार्यक्रमों को जनता तक पहुंचाने में कोई कमी नहीं रखना है।

धार जिले के मांडू में तीन दिनों से चल रहे भाजपा के प्रशिक्षण वर्ग में इस तरह की बातें यहां मौजूद जिला अध्यक्षों, जिला प्रभारियों, प्रदेश पदाधिकारियों को बताई गईं। रविवार को सत्र के अंतिम दिन सुबह सुबह सभी को प्रामाणिकता को लेकर प्रशिक्षण दिया गया और कहा गया कि हमें अपनी बात प्रामाणिकता के साथ ही रखनी है ताकि विरोधी उसकी काट न तलाश सकें और अपनी बात गलत साबित नहीं हो। इसके उपरांत लक्ष्य अन्त्योदय, पथ अन्त्योदय और प्रण अन्त्योदय की थीम पर चलने वाले इस प्रशिक्षण शिविर के अंतिम दिन महाराष्ट्र के सह प्रभारी व पूर्व मंत्री जय भान सिंह पवैया ने सांस्कृतिक राष्ट्रवाद को लेकर पार्टी की रीति नीति के बारे में प्रशिक्षणार्थियों से संवाद किया। इस दौरान उन्होंने राष्ट्रवाद को कमजोर करने के लिए कांग्रेस व अन्य विपक्षी दलों की कार्यशैली पर हमला कर कहा कि हमें इनकी हरकतों से सावधान रहकर आने वाले दिनों में सांस्कृतिक राष्ट्रवाद को बढ़ावा देने का काम करन होगा। पार्टी के जिला अध्यक्ष ही जिले में संगठन का चेहरा होते हैं, इसलिए उनकी  जिम्मेदारी और बढ़ जाती है। अगले सत्र में एकात्म मानववाद पर डॉ महेश शर्मा ने पंडित दीनदयाल के सिद्धांतों और उसको लेकर केंद्र व राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे कामों का जिक्र करते हुए कहा कि हमें इस विचारधारा को घर-घर और जन-जन तक पहुंचाना है।

Related Articles

Back to top button