Borewell Latest Update: खुला बोर छोड़ने वालो की अब खेर नहीं, जानकारी देने पर ईनाम, जागा प्रशासन

Borewell Latest Update: बोरबेल मे हादसों के बाद जागा प्रशासन। सर्वसाधारण को सूचित किया जाता है कि यदि कोई भी व्यक्ति भोपाल किरण लता केरकेटा देहात क्षेत्र में किसी खुले हुए ट्यूबवेल की सूचना देगा तो उसे सम्मानित किया जाएगा और उसे पुरस्कार भी दिया जाएगा साथ ही उसके नाम को गुप्त रखा जाएगा।

Borewell Latest Update: उज्जवल प्रदेश, भोपाल. सर्वसाधारण को सूचित किया जाता है कि यदि कोई भी व्यक्ति भोपाल किरण लता केरकेटा देहात क्षेत्र में किसी खुले हुए ट्यूबवेल की सूचना देगा तो उसे सम्मानित किया जाएगा और उसे पुरस्कार भी दिया जाएगा साथ ही उसके नाम को गुप्त रखा जाएगा।

सूचना देने का नम्बर-9479990663.

कलेक्टर भोपाल अविनाश लवानिया ने भी लोगों से की अपील।

जांच में यदि किसी स्थान पर असफल ट्यूबवेल बोर खुला हुआ पाया जाता है तो संबंधित के विरूद्ध नियमानुसार कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। इधर आदेश जारी होने के बाद लोगों का कहना है कि वास्तव में एक-एक ऐसे खुले पड़े बोर की जांच-पड़ताल कर उनके मालिकों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाना चाहिए। इसके अलावा इस बात पर लगातार नजर भी रखी जानी चाहिए कि कोई नया होने वाला बोर भी खुला न रह जाए। इसके लिए जिम्मेदार विभागों द्वारा अपनी भूमिका का ईमानदारी से निर्वहन किया जाएं।

पहले से है यह प्रावधान

ऐसा नहीं है कि इसके लिए प्रावधान नहीं है। स्वयं सुप्रीम कोर्ट ने 12 साल पहले इसे लेकर गाइड लाइन जारी की है। इसमें साफ कहा गया है कि सरपंच और कृषि विभाग के अफसरों को इनकी मॉनीटरिंग कर खुले बोर बंद कराएं। कलेक्टर और पंचायत को लिखित सूचना के बाद बोर खोदे जाएं। बोर खुदाई वाले स्थानों पर साइन बोर्ड लगाए जाएं, तार फेंसिंग की जाएं। बोर के मुहाने पर स्टील की प्लेट वेल्ड की जाएं या नट बोल्ट से कसा जाएं। सूखा बोर खुला न छोड़ा जाएं, उसे स्थाई रूप से बंद किया जाएं।

नहीं देते जिम्मेदार ध्यान

गाइड लाइन होने के बावजूद खुले बोरों का मौजूद रहना और आए दिन ऐसी घटनाएं होते रहने से साफ है कि जिन विभागों को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है, वे इस जिम्मेदारी का निर्वहन करने में जरा भी रूचि नहीं लेते। यही कारण है कि अब यह मांग भी उठ रही है कि ऐसी घटना होने पर बोरवेल मालिक के साथ ही संबंधित विभाग के जिम्मेदार अफसरों पर भी कार्रवाई की जाएं।

MP News : विदिशा में बोरवेल से बच्चे को निकाला, नहीं बच सकी जान डॉक्टरों ने मृत किया घोषित

Related Articles

Back to top button