घर-घर जाकर दिये जायेंगे विद्युत बिल माफी योजना के प्रमाण-पत्र – ऊर्जा मंत्री तोमर

ग्वालियर
ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने मुख्यमंत्री विद्युत बिलों में राहत योजना-2022 में जती की लाइन ग्वालियर में हितग्राहियों को विद्युत बिल माफी के प्रमाण-पत्र वितरित किये। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विद्युत उपभोक्ताओं के 31 अगस्त 2020 तक के एक किलोवाट के विद्युत बिल माफ कर दिये हैं। माफ हुए बिलों के प्रमाण-पत्र उपभोक्ताओं को घर-घर जाकर दिये जायेंगे।

मंत्री तोमर ने बताया कि योजना के अंतर्गत  प्रदेश के 88 लाख बिजली उपभोक्ताओं को 6414 करोड़ 32 लाख रूपए की राहत दी गयी है। इससे विद्युत के ऐसे उपभोक्ता, जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं, को सीधा लाभ मिलेगा। मंत्री तोमर ने कहा कि उपभोक्ताओं की सुविधा को देखते हुए नये सब स्टेशन बनाये जा रहे हैं। पुराने ट्रांसफार्मर्स को बदल कर नये लगाये जा रहे हैं, जिससे ट्रिपिंग की समस्या से मुक्ति मिली है।

ग्वालियर में बिरला नगर जोन पर जती की लाइन में निवासरत रामप्रसाद का 9 लाख 87 हजार रूपये का बिल माफ किया गया। बिल माफी का प्रमाण-पत्र पाकर उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा तथा उन्होंने मुख्यमंत्री एवं ऊर्जा मंत्री को धन्यवाद दिया।

उन्होंने कहा कि ग्वालियर महानगर के 61 हजार उपभोक्ताओं के 165 करोड़ रूपए के बिजली बिल माफ किए गए हैं तथा उप नगर ग्वालियर के 28 हजार 49 उपभोक्ताओं के 100 करोड़ 58 लाख रूपये के बिल माफ किये गये हैं। आज शिविर में बिरला नगर के 4939 उपभोक्ताओं के 22 करोड़ 10 लाख रूपये के बिल माफ किये गये हैं। इस प्रकार के शिविर निरंतर लगाकर उपभोक्ताओं को बिल माफी के प्रमाण-पत्र वितरित किये जायेंगे।

Related Articles

Back to top button