मिंटो में लर्निंग फ्रॉम नेशलन अचीवमेंट सर्वे कार्यशाला का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया शुभारंभ

भोपाल
 मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि केन्द्र सरकार द्वारा कराया जाने वाला नेशनल अचीवमेंट सर्वे भारत का सबसे बड़ा और राष्ट्रीयव्यापी सर्वे है। इसकी मदद से भविष्य के लिए शिक्षा की गुणवत्ता को और बेहतर किया जा सकेगा।  वे मिंटो हाल के कुशाभाउ ठाकरे हाल में लर्निंग फ्रॉम नेशलन अचीवमेंट सर्वे कार्यशाला का शुभारंभ  कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस सर्वे का उद्देश्य शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए राष्ट्रीय स्तर, राज्य स्तर और जिला स्तर तक विद्यार्थियों के शैक्षणिक स्तर का फीडबैक प्राप्त करना है। उन्होंने कहा कि यह देशव्यापी सर्वे इस बार बारह नवंबर 2021 को संचालित किया गया था जिसमें मध्यप्रदेश ने भागीदारी की थी। कक्षा तीसरी, पांचवी, आठवी और दसवी के लिए यह सर्वे सेम्पल आधार पर कराया गया। सर्वे के दौरान गणित, विज्ञान, पर्यावरण, सामाजिक विज्ञान, अंग्रेजी,एवं भाषा के क्षेत्र में शैक्षणिक उपलब्धियों का स्तर जांचा गया था।

 इस मौके पर स्वागत भाषण स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी ने दिया। संचालक राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा इस अवसर पर राष्टÑीय उपलब्धि सर्वे  2021 के विश्लेषण एवं भावी रणनीति पर संक्षिप्त प्रस्तुतिकरण दिया गया और लघु फिल्म का प्रदर्शन भी किया गया।

तीन साल में किया जाता है सर्वे
यह सर्वे तीन वर्ष में एक बार होता है। सर्वे में केन्द्र सरकार के विद्यालय, राज्य सरकार के विद्यालय, अनुदान प्राप्त विद्यालय और प्राइवेट विद्यालय सभी सम्मिलित होते है। मध्यप्रदेश प्रारंभिक कक्षाओं की शैक्षिक उपलब्धियों में वर्वे में देश में पांचवे स्थान पर है। सन 2017 में प्रदेश सत्रहवे स्थान पर था। इसमें उल्लेखनीय प्रगति हुई है।

Related Articles

Back to top button