आला अफसरों के साथ CM शिवराज ने की समीक्षा, कहा दंगा फैलाने की साजिश बर्दाश्त नहीं

भोपाल
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में दंगा फैलाने की साजिश बर्दाश्त नहीं की जाएगी। चाहे वह कोई भी हो, ऐसी हरकत करने वाले को बख्शा नहीं जाएगा। खरगोन में दंगाइयों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही जारी है। उन्होंने कहा है कि आगजनी और पथराव कर खरगोन का माहौल बिगाड़ने की कोशिश करने वालों के घर और अन्य संपत्ति जमींदोज करने की कार्यवाही जारी रखी जाए।

मंगलवार को मंत्रालय में कैबिनेट की बैठक के पहले प्रदेश में कानून व्यवस्थ की समीक्षा को लेकर बुलाई गई बैठक में सीएम चौहान के साथ प्रदेश के गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा भी मौजूद रहे। बैठक में सीएस इकबाल सिंह बैंस, एसीएस होम डॉ. राजेश राजौरा, डीजीपी सुधीर सक्सेना समेत अन्य अधिकारियों ने सीएम को बताया कि अब तक 95 दंगाइयों को हिरासत में लेने और गिरफ्तार करने की कार्यवाही की जा चुकी है। सीसीटीवी कैमरे और वीडियो से भी कुछ दंगाई चिन्हित किए गए हैं।

सीएम को जानकारी दी गई कि आज भी दंगाइयों की संपत्ति जमींदोज करने की कार्यवाही हो रही है। इसके अलावा प्रदेश के अन्य जिलों के हालातों को लेकर भी बैठक में चर्चा की गई।  खरगोन में घटनाक्रम पर नजर रखने और हालात काबू में रखने के लिए चार आईपीएस अफसरों के साथ जावरा, इंदौर, धार आदि स्थानों से कमांडेंट और उनकी टीम भेजी गई है। इसके साथ ही एएसपी और डीएसपी स्तर के डेढ़ दर्जन से अधिक अधिकारी तैनात किए गए हैं। आरएएफ की कम्पनी और समीपी जिलों का पुलिस बल भी वहां बुला लिया गया है।

प्रशासन नहीं होता तो एसपी को गोली टीआई को पत्थर कैसे लगता: नरोत्तम
बैठक के बाद गृहमंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि यह तय हुआ है कि दंगाई बख्शे नहीं जाएंगे। प्रशासन का फेल्योर होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि अगर प्रशासन नहीं होता तो एसपी को गोली कैसे लगती? टीआई को पत्थर कैसे लग जाता? ओवैसी के  ट्वीट पर उन्होंने कहा कि ओवैसी और पूर्व सीएम दिग्विजय ने पत्थरबाजी पर ट्वीट नहीं किया। वे पत्थर फेंकने वालों के फुटेज देख सकते हैं। बुलडोजर से संपत्ति नष्ट करने पर मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में किसी से तुलना करके कार्यवाही नहीं की जा रही है पर कानून तोड़ने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।

Related Articles

Back to top button