कांग्रेस ने जारी किया रामनवमी और हनुमान जयंती मनाने का सर्कुलर, उठा विवाद

इंदौर

मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की तरफ से पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को जारी सर्कुलर से विवाद खड़ा हो गया है। सर्कुलर में लिखा है कि कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता राम नवमी और हनुमान जयंती के अवसर पर राज्य में धार्मिक आयोजन करें और सुंदर कांड और हनुमान चालिसा का पाठ करें। इस सर्कुलर पर आपत्ति जताते हुए भोपाल सेंट्रल सीट से कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने कहा है कि पार्टी गलत मिसाल पेश कर रही है।

आरिफ मसूद ने कहा- किसी राजनीतिक पार्टी को इस तरह के सर्कुलर जारी नहीं करना चाहिए। हम सभी धर्मों को साथ लेकर चलते हैं। सर्कुलर में सिर्फ राम नवमी और हनुमान जयंती का जिक्र है लेकिन अंबेडकर जयंती, रमजान या गुड फ्राइडे का जिक्र नहीं है। मसूद ने सवाल उठाया कि सर्कुलर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को बाकी धर्मों से जुड़े आयोजन करने का निर्देश क्यों नहीं दिया गया? अगर हम राम नवमी और हनुमान जयंती मनाने का सर्कुलर जारी कर रहे हैं तो उसमें रमजान और बाकी धर्मों से जुड़े त्योहारों का भी जिक्र होना चाहिए। इस तरह का सर्कुलर किसी भी राजनीतिक पार्टी के लिए ठीक नहीं है।

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस सर्कुलर पर चुटकी लेते हुए कहा कि मसूद की आपत्ति बिलकुल ठीक है। उन्होंने कहा- मसूद ये हजम नहीं कर पा रहे हैं कि जो पार्टी इफ्तार पार्टी का आयोजन किया करती थी, वो पार्टी अब मंदिरों के चक्कर क्यों लगा रही है? इस सर्कुलर को हिंदु समुदाय से जुड़ने की कांग्रेस की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव भी होने हैं।

Related Articles

Back to top button