मध्य प्रदेश से शुरू होगा देश का “A-HELP” कार्यक्रम, महिलाएं बनेंगी “पशु सखी”

भोपाल
 मध्य प्रदेश (MP) के लिए ये गौरव की बात है कि केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय और मत्स्य, पशुपालन एवं डेयरी मंत्रालय द्वारा 23 जुलाई को संयुक्त रूप से भोपाल से देश में ‘A-HELP’ प्रशिक्षण कार्यक्रम (‘A-HELP’ training program) का शुभारंभ किया जा रहा है। कार्यक्रम में राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन में पंजीकृत स्व-सहायता समूहों की ऐसी महिला सदस्य, जो पशु सखी (Pashu Sakhi) के रूप में विभिन्न पशुपालन गतिविधियों में सहयोग दे रही हैं, उनको ‘A-HELP’ (Accredited Agent for Health and Extension of Livestock Production) के रूप में प्रशिक्षित किया जाएगा।

पशुपालन एवं डेयरी मंत्री प्रेमसिंह पटेल और पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया सहित केंद्रीय पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सचिव, अपर सचिव, संयुक्त सचिव, कर्नाटक, बिहार, झारखंड, राज्यों के प्रमुख सचिव और मध्य प्रदेश शासन के विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव, वरिष्ठ अधिकारी और प्रतिभागी शामिल होंगे। कार्यक्रम प्रशासन अकादमी के स्वर्ण जयंती सभागार में शनिवार को सुबह 10:00 बजे प्रारंभ होगा। इसमें प्रतीक चिन्ह का भी लोकार्पण किया जाएगा।

‘A-HELP’ समुदाय आधारित महिला कार्यकर्ता हैं, जो पशु चिकित्सकों को स्थानीय विभागीय कार्यों में सहयोग देने के साथ पशुपालकों को उद्यमिता विकास के लिये ऋण लेने, आवेदन भरने, पशुओं के कान की टेगिंग को चिन्हित कर इनाफ पोर्टल पर दर्ज कराने और पशुधन बीमा आदि कार्यों में सहायता करेंगी। विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन में सहयोग और निचले स्तर तक पशुपालकों को जानकारी उपलब्ध कराने में ‘A-HELP’ की सहायता ली जा सकेगी। इससे ‘A-HELP’ को आय का साधन भी उपलब्ध हो सकेगा।

Related Articles

Back to top button