कोरोना पीक टाइम में मुख्यमंत्री कन्या विवाह, कल्याणी विवाह और मुख्यमंत्री निकाह योजना में करोड़ों खर्च

भोपाल
प्रदेश में मार्च 2020 के बाद कोरोना संक्रमण चरम पर होने के बाद मुख्यमंत्री कन्या विवाह, कल्याणी विवाह और मुख्यमंत्री निकाह योजना में करोड़ों रुपए खर्च हुए हैं। इस दौरान दो साल में 29 हजार विवाह का खर्च सरकार ने उठाया है। सामाजिक न्याय मंत्री प्रेम सिंह पटेल ने इसको लेकर लिखित जानकारी में बताया कि वर्ष 2020-21 में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के अंतर्गत 24862 विवाह हुए और 115.66 करोड़ रुपए सरकार ने खर्च किए।

इसी तरह मुख्यमंत्री निकाह योजना में 2974 निकाह हुए जिसमें 14.84 करोड़ रुपए का आवंटन सरकार की ओर से दिया गया। कल्याणी विवाह योजना के अंतर्गत 737 विवाह के लिए 14.74 करोड़ का आवंटन दिया गया। इसके विपरीत वर्ष 2021-22 में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के अंतर्गत 204 हितग्राहियों के लिए 1.04 करोड़ का आवंटन किया गया। मुख्यमंत्री कन्या निकाह योजना के लिए 197 निकाह की खातिर एक करोड़ रुपए आवंटित किए गए जबकि कल्याणी विवाह योजना के अंतर्गत 411 महिलाओं के विवाह हुए जिसके लिए 8.22 करोड़ रुपए खर्च के लिए शासन ने आवंटित किए। पशुपालन और सामाजिक न्याय मंत्री प्रेम सिंह पटेल ने यह जानकारी विधायक सज्जन सिंह वर्मा के सवाल के लिखित जवाब में दी है।

वर्मा ने विधानसभा के जरिये जानकारी मांगी थी कि वर्ष 2020-21 और 2021-22 में कितने विवाह प्रदेश भर में हुए? इसकी जिला वार आवंटन और खर्च की जानकारी दी जाए। साथ ही यह भी बताया जाए कि किस तरह की अनियमितता हुई और उस पर सरकार ने क्या कार्यवाही की? लाकडाउन के अवधि में हुए विवाह के मामले में सरकार ने क्या एक्शन लिया है? इस पर मंत्री ने किसी तरह की कार्यवाही नहीं होने की जानकारी दी है।

Related Articles

Back to top button