तकनीकी शिक्षा विभाग: राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत व्यवस्था शुरू, हिंदी मीडियम में भी पढ़ सकेंगे छात्र

भोपाल
तकनीकी शिक्षा विभाग प्रदेश के एक दर्जन इंजीनियरिंग और पॉलीटेक्निक कॉलेजों में हिंदी माध्यम से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कराएगा। विभाग ने एक दर्जन कॉलेजों में शैक्षणिक सत्र 2022-23 से इंजीनियरिंग की बीटेक एवं डिप्लोमा की पढ़ाई हिन्दी माध्यम से कराए जाने के निर्देश जारी कर दिए हैं।

    राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत 13 क्षेत्रीय भाषाओं में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कराने के लिए व्यवस्था की गई है।  इसके लिए हिंदी में पूरा सिलेबस पहले ही तैयार कर लिया गया है। विभाग द्वारा इन संस्थाओं को संचालनालय तकनीकी शिक्षा से एआईसीटीई से प्राप्त हिन्दी माध्यम की पुस्तकों का सेट प्राप्त करने के की व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही प्रत्येक संस्था द्वारा हिन्दी में इंजीनियरिंग एवं डिप्लोमा की पढ़ाई के प्रति छात्रों में जागरूकता लाने के लिए प्रचार प्रसार किया जाएगा। सत्र 2022-23 के जुलाई माह में हिन्दी माध्यम से डिग्री एवं डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के अध्ययन के संबंध में कार्ययोजना तैयार कर ली गई थी।

आरजीपीवी के प्रोफेसर्स ने किया है ट्रांसलेशन
एआईसीटीई द्वारा क्षेत्रीय भाषाओं में इंजीनियरिंग के कोर्स को ट्रांसलेट करने के लिए विभिन्न विश्वविद्यालयों को जिम्मेदारी की गई थी। आरजीपीवी के प्रोफेसर्स को अंगे्रजी की पुस्तकों का हिंदी में ट्रांसलेट करने का काम सौंपा गया था। आरजीपीवी के एक दर्जन से अधिक प्रोफेसर्स ने पहले ही सभी पुस्तकें हिंदी में तैयार कर एआईसीटीई को सौंप दी हैं।

13 कॉलेजों में होगी हिंदी में पढ़ाई
इंजीनियरिंग कॉलेज जबलपुर: बीटेक – सिविल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इंजीनियरिंग कॉलेज उज्जैन: बीटेक – सिविल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, एसजीएसआईटीएस इंदौर : बीटेक-बायोमेडिकल इंजीनियरिंग, यूआईटी-आरजीपीव्ही भोपाल/ एसआईटी शिवपुरी : बीटेक-सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स एण्ड टेलिकम्यूनिकेशन, कम्प्यूटर साइंस इंजीनियरिंग (छात्रों की च्वॉइस के आधार पर), इंस्टीट्यूट आॅफ इंजीनियरिंग एण्ड साइस (आईपीएस एकेडमी) इंदौर: बीटेक-कम्प्यूटर सांइस इंजीनियरिंग, सरदार वल्लभ भाई पटेल पॉलीटेक्निक भोपाल: डिप्लोमा-मैकेनिकल इंजीनियरिंग, शासकीय महिला पॉलीटेक्निक भोपाल: डिप्लोमा-आर्किटेक्चरर एवं इंटीरियर डिजाइन, शासकीय पॉलीटेक्निक बैढन: डिप्लोमा-इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलिकम्यूनिकेशन एसआर पॉलीटेक्निक सागर: डिप्लोमा  इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलिकम्यूनिकेशन, पॉलीटेक्निक कॉलेज बैतूल : डिप्लोमा- मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, महिला पॉलीटेक्निक जबलपुर: डिप्लोमा – कम्प्यूटर सांइस इंजीनियरिंग।

Related Articles

Back to top button