नक्सली आतंक की वजह से कान्हा नेशनल पार्क के विकास कार्य में बाधा – मंत्री कुलस्ते

जबलपुर
 मध्यप्रदेश राज्य के जबलपुर में स्थित कान्हा नेशनल पार्क में विकास कार्यों के चलते कई सरकारी मशीनों और वाहनों का इस्तेमाल किया जा रहा है। लेकिन अब इन सरकरी वाहनों और मशीनों में नक्सलियों द्वारा आग लगाई जा रही है। ऐसा कहना है केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते का। जी हां जबलपुर पहुंचे केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने माना है कि कान्हा नेशनल पार्क के अधिकतर हिस्सों में नक्सलियों कि गतिविधियां बढ़ती हुई नजर आ रही हैं।

कान्हा नेशनल पार्क के क्षेत्र में विकास के कार्यों में लगी हुई सरकारी मशीनरी और वाहनों को नक्सलियों द्वारा आग लगाया जा रहा है। साथ ही साथ सरकारी कर्मचारियों को धमकी भी दी जा रही है, जिस वजह से विकास के कार्य में बाधा आ रही है। मंत्री फग्गन सिंह की मानें तो कान्हा नेशनल पार्क छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सीमा से लगा हुआ है, इस वजह से नक्सलियों को आसानी से प्रवेश मिल जाता है, नक्सलियों के आतंक की जानकारी सरकार को है और अब ऐसी गतिविधियों को रोकने के लिए सरकार संवेदनशील है। इन नक्सलियों की गतिविधियों को रोकने के पूरे प्रयास किए जा रहे है।

 

छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार केंद्रीय योजनाओं के क्रियान्वयन में रोड़ा अटका रही है यह बड़ा आरोप केंद्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने लगाए हैं, हाल ही में खैरागढ़ उपचुनाव को लेकर छत्तीसगढ़ दौरे से वापस लौटे केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा कि अपने एकदिवसीय दौरे में उन्होंने विधानसभा और अलग-अलग क्षेत्रों का दौरा किया, जहां ग्रामीणों ने खुद बताया कि पीएम आवास योजना के स्वीकृत प्रकरणों के बावजूद वह साढे 3 सालों से ज्यादा समय बीत जाने के बाद भी अपना आवास नहीं बना पाए हैं। इतना ही नहीं केंद्र सरकार की नल जल योजना का क्रियान्वयन भी छत्तीसगढ़ राज्य के अधिकांश हिस्सों में नहीं हुआ है और ग्रामीण जनता केंद्र की मोदी सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं से वंचित है

पीएम आवास योजना में एक छोटा अंश राज्य सरकार का भी होता है, लेकिन जानबूझकर राज्य सरकार इस योजना के लेट लतीफी कर रही है, जिससे तय टारगेट में पीएम आवास योजना का क्रियान्वयन छत्तीसगढ़ राज्य में नहीं हो पा रहा है,उन्होंने कहा कि खैरागढ़ सीट मूल रूप से कांग्रेस की सीट रही है,एक दो बार ही यहां से अन्य पार्टी के प्रत्याशी जीते हैं लेकिन इस बार जनता लोकतंत्र के पर्व के माध्यम से सरकार को जवाब जरुर देगी।

Related Articles

Back to top button