डीआईजी रैंक के अफसरों की होगी भरमार

भोपाल
प्रदेश पुलिस को कॉडर रिव्यू में जितने पद डीआईजी के मिले हैं उतने आईपीएस अफसर एक बार में ही पदोन्नत होंगे। इसके चलते प्रदेश अगले साल डीआईजी के पद पर अफसरों की भरमार हो जाएगी। गौरतलब है कि प्रदेश में अभी डीआईजी रैंक के अफसरों की कमी के चलते कुछ अफसरों को दो-दो जगहों के प्रभार दिए गए हैं। इस संबंध में शनिवार को ही शासन ने एक आदेश जारी किया था। पिछले महीने हुए आईपीएस अफसरों के कॉडर रिव्यू बाद प्रदेश में डीआईजी के 26 पद दिए गए हैं। इतनी संख्या में इस रैंक पर अगले साल की शुरूआत में पुलिस अधीक्षक, एआईजी और विभिन्न बटालियनों में पदस्थ कमांडेंट पदोन्नत होकर डीआईजी बनने जा रहे हैं। जबकि प्रदेश में अभी 20 डीआईजी हैं। इनमें से दो डीआईजी पदोन्नत होकर आईजी हो जाएंगे।

ये हैं कॉडर पद
डीआईजी के जो पद स्वीकृत हैं, उनमें डीआईजी प्रशासन, सीआईडी, एसएएफ, प्रबंधन, योजना, अजाक, काउंटर इंटेलीजेंस, भोपाल ग्रामीण, इंदौर ग्रामीण, नर्मदापुरम रेंज, उज्जैन, रतलाम, खरगौन, ग्वालियर, चंबल, सागर, छतरपुर, जबलपुर, छिंदवाड़ा, रीवा, बालाघाट, शहडोल रेंज के अलावा अपर पुलिस आयुक्त के इंदौर और भोपाल में दो-दो पद स्वीकृत हैं।

लंबे समय तक झेली डीआईजी की कमी
प्रदेश पुलिस ने लंबे समय तक डीआईजी रैंक के अफसरों की कमी झेली है। प्रदेश में करीब एक दशक तक डीआईजी की कमी रही। दरअसल प्रदेश में वर्ष 1996 से लेकर वर्ष 2005 तक सिर्फ 27 अफसर ही सीधे तौर पर मिले थे। इस दौरान राज्य पुलिस अफसरों को भी पदोन्नत कर आईपीएस बनाने का क्रम धीमा हो गया था। इस सब के चलते प्रदेश में डीआईजी रैंक के अफसरों की कमी हो गई थी। यह कमी अब जल्द ही दूर हो जाएगी। वर्ष 2006 से लेकर वर्ष 2008 तक के आईपीएस अफसरों की पदोन्नति ने इस कमी को कुछ हद तक दूर किया था।

इन अफसरों को बनना है डीआईजी
वर्ष 2009 बैच के अफसरों को डीआईजी बनना हैं। प्रदेश में इन अफसरों की संख्या 26 हैं। जबकि पहले से ही प्रदेश में 20 डीआईजी हैं। इनमें से वर्ष 2005 के अफसर सुशांत सक्सेना और डॉ. आशीष अगले साल की शुरूआत में ही आईजी बन जाएंगे। वर्ष 2023 की शुरूआत से ही प्रदेश में करीब 46 डीआईजी रैंक के अफसर हो सकते हैं। जो अफसर डीआईजी बनने वाले हैं उनमें तरुण नायक, नवनीत भसीन, रुडाल्फो अल्वारेज, अमित सिंह, शशिकांत शुक्ला, संतोष सिंह गौर,मोनिका शुक्ला, ओपी त्रिपाठी, सविता सोहाने, मनोज कुमार श्रीवास्तव, अनिता मालवीय, साकेत प्रकाश पांडे, बिजेंद्र सिंह, प्रशांत खरे,मुकेश श्रीवास्तव,  सुनील कुमार जैन, अवधेश गोस्वामी, महेश चंद्र जैन, डीआर तेनीवार, अमित सांघी, टीके विद्यार्थी, सत्येंद्र कुमार शुक्ला,  मनीष अग्रवाल, अतुल सिंह, , सुनील कुमार पांडे, मनोज कुमार सिंह डीआईजी बनेंगे।

Related Articles

Back to top button