वाल्मी की पहाड़ियों पर बाघ के मूवमेंट से एक बार फिर पूरे इलाके में दहशत, अलर्ट किया जारी

भोपाल

राजधानी में  वाल्मी क्षेत्र में  बाघ के मूवमेंट से एक बार फिर पूरे इलाके में दहशत फैल गयी है। बाघ खबर मिलते ही वन विभाग कल शाम से ही एक्टिव हो गया था और सारी रात बाघ की सर्चिंग चलती रही।

गौरतलब है कि  13 शटर गेट क्षेत्र में सोमवार को एक युवा बाघ नजर आया था। यह बाघ जागरण लेकसिटी की ओर से निकला, नदी पार की और वाल्मी पहाड़ी की और बढ़ने लगा था। वह देखते ही देखते तार फेंसिंग को फांदकर जंगल में दाखिल हो गया।  बाघ के इस मूवमेंट को कैमरे में भी कैद किया गया और उसका वीडिया वायरल हो गया था।  वाल्मी जंगल में बाघ दाखिल होने की सूचना के बाद भोपाल सामान्य वनमंडल का अमला क्षेत्र में  एक्टिव हो गया है।

बाघिन टी-123 का बेटा है युवा बाघ
भोपाल सामान्य वन मंडल ने सोमवार को देखे गए युवा बाघ की पहचान बाघ टी 1233 के रूप में की है, जो बाघिन टी-123 का बेटा है। इस बाघिन ने बीते छह वर्षों में चार शावकों को जन्म दिया है, यह बाघ उन्हीं में से एक है। गौरतलब है कि वाल्मी प्रबंधन द्वारा अपने जंगल को कवर्ड करने के लिए तार फेंसिंग करके बाघों के प्राकृतिक रास्तों में व्यवधान डाला है, जो ठीक नहीं है। इन्हें रास्ता नहीं मिला तो किसी दिन ये शहर के अंदर दाखिल हो सकते हैं।

बाघ मूवमेंट का एरिया हैं वाल्मी
शहर से लगे जंगलों में बाघों का मूवमेंट सामान्य बाता है। भोपाल सामान्य वनमंडल के डीएफओ आलोक पाठक का कहना है कि इस एरिया में पहले ही अलर्ट जारी किया जा चुका है क्योंकि यह उसकी का एरिया है। इस बार वह दिन में लोगों को नजर आ गया जबकि उसका अभी तक का मूवमेंट रात का ही रहा है। हम लोग बाघों के भ्रमण पर लगातार नजर रख रहे हैं, जो युवा बाघ दिखाई दिया है, उसकी सुरक्षा के लिए अतिरिक्त गश्त के निर्देश दिए हैं। इस पूरे इलाकों को रेंजर और वन रक्षकों की टीम ने सर्चिंग पर लिया है।  

Related Articles

Back to top button