भोपाल-जबलपुर में दो भ्रष्टाचारियों पर ईओडब्ल्यू छापा

भोपाल/जबलपुर
ईओडब्ल्यू ने आज सुबह भोपाल में चिकित्सा शिक्षा के बाबू और जबलपुर में नगर निगम के इंजीनियर के घर पर छापा डाला। वहीं इंदौर में एक गृह निर्माण समिति के तत्कालीन पदाधिकारियों के खिलाफ ईओडब्ल्यू ने एफआईआर दर्ज की। भोपाल के बैरागढ़ में रहने वाले हीरो केसवानी चिकित्सा शिक्षा विभाग में उच्च श्रेणी लिपिक हैं। उनके खिलाफ ईओडब्ल्यू ने आय से अधिक सम्पत्ति का मामला दर्ज करने के बाद आज सुबह छापा डाला। छापे में नकदी और जमीनों के दस्तावेज मिले हैं।

बताया जाता है कि ईओडब्ल्यू की टीम को देखकर हीरो केसवानी ने फिनाईल पी लिया। उन्हें हमीदिया में भर्ती कराया जा रहा है। इसके चलते ईओडब्ल्यू की टीम करीब दो घंटे तक उनके घर के बाहर बैठी रही। जब यह पता चला कि हीरो केसवानी की स्थिति ठीक है, इसके बाद छापे की कार्यवाही शुरू हो सकी।

नगर निगम जबलपुर के एई के घर ईओडब्ल्यू की रेड
नगर निगम के सहायक यंत्री आदित्य शुक्ला के रतन नगर स्थित घर में ईओडब्ल्यू की टीम ने आज सुबह-सुबह रेड मारी। घर से मिले दस्तावेजों के आधार पर सामने आया है कि आदित्य शुक्ला के पास आय से करीब 203 प्रतिशत ज्यादा संपत्ति है। घर से लग्जरी कारें, बुलेट बाइक और बैंक अकाउंट में 6 लाख 40 हजार रुपए होने की जानकारी मिली। बता दें कि सहायक यंत्री शुक्ला उद्यान अधिकारी, संपदा अधिकारी जैसे महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं।

आरोपी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। कार्रवाई के दौरान निरीक्षक स्वर्णजीत सिंह धामी, निरीक्षक उमा नवल आर्य, निरीक्षक प्रेरणा पाण्डेय, उप निरीक्षक विशाखा तिवारी, उप निरीक्षक फरजाना परवीन, उप निरीक्षक गोविंद यादव और अन्य मौजूद रहे। ईओडब्ल्यू एसपी देवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि आलीशान बंगले की जांच व मूल्यांकन करने लोक निर्माण विभाग के एसडीओ सीपी सिंह के नेतृत्व में कार्रवाई की जा  रही है।

इंदौर की कसेरा गृह निर्माण समित में पौने चार करोड़ का घपला
इंदौर की कसेरा गृह निर्माण सहकारी संस्था के तत्कालीन अध्यक्ष, भू-स्वामी और अन्य के खिलाफ ईओडब्ल्यू ने प्रकरण दर्ज किया है।  बताया जाता है कि संस्था के तत्कालीन अध्यक्ष मधुकर सोमण, शुभदा परांजये भू-स्वामी डॉ. हेमंत फाटक ने साथ में मिलकर फर्जी अनुबंध लेख तैयार कर संस्था में जमा 3 करोड़ 88 लाख रुपए की धोखाधड़ी संस्था के सदस्यों के साथ की। तीनों को आरोपी बनाया गया है।

Related Articles

Back to top button