प्रदेश में तापमान दो से तीन डिग्री तक बढ़ोतरी के अनुमान

भोपाल
 वर्तमान में मध्य प्रदेश में दो वेदर सिस्टम एक्टिव हैं, जिसके कारण 11 मई को एक बार फिर मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा।एमपी मौसम विभाग (MP Weather Alert) के अनुसार, 9 से 10 मई बीच अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच सकता है।

एमपी मौसम विभाग (MP Weather Cloud) के अनुसार, वर्तमान में अफगानिस्तान और उसके आसपास एक पश्चिमी विक्षोभ ट्रफ के रूप में बना हुआ है, हरियाणा में हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है, दक्षिण-पूर्वी मध्यप्रदेश पर भी हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात बना हुआ है, इस चक्रवात से लेकर विदर्भ होते हुए तमिलनाडु तक एक ट्रफ लाइन भी बनी हुई है। इन चार सिस्टमों के कारण वातावरण में नमी बढ़ी है और बादल छाने लगे हैं और कहीं कहीं बूंदाबांदी के आसार है। आने वाले दिनों में राजस्थान में तेज गर्मी के असर से जबलपुर सहित मध्य प्रदेश में अधिकतम तापमान दो से तीन डिग्री तक बढ़ सकता है और उत्तरी पश्चिमी गर्म हवाएं चल सकती हैं।

एमपी मौसम विभाग (MP Weather Forecast) के अनुसार एक चक्रवात बंगाल की खाड़ी में में बनने जा रहा है,ऐसे में वह 9 व 10 मई तक बांग्लादेश पहुंचेगा, जिसका सबसे ज्यादा असर पूर्वी मध्यप्रदेश पर पड़ सकता है । वही एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ 11 मई को भारत की तरफ आ रहा है। उसका असर उत्तर भारत में सबसे ज्यादा पड़ेगा और MP के मौसम में भी इसका बदलाव दिखाई दे सकता है। 9 से 10 मई बीच अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच सकता है। 10 जून के बाद मध्य प्रदेश से किसी भी जिले में तापमान 39 डिग्री सेल्सियस से ऊपर नहीं होगा।15 जून के बाद या आसापास मानसून की दस्तक हो सकती है।

Related Articles

Back to top button