अमरकंटक में किसानों को औषधीय पौधों की खेती के लिये किया जा रहा है प्रोत्साहित

भोपाल

अमरकंटक परिक्षेत्र के जनजातीय किसानों को औषधीय पौधों की खेती के लिये प्रोत्साहित किया जा रहा है। किसानों को तकनीकी परामर्श, सहयोग, प्रशिक्षण और मार्केट लिंकेज के लिये अनूपपुर जिला प्रशासन ने इंदिरा गांधी राष्ट्रीय ट्रायबल विश्वविद्यालय एवं अन्य राष्ट्रीय संस्थाओं के साथ एमओयू साइन किये हैं।

जिला प्रशासन ने आयुष विभाग के सहयोग से 200 किसानों को औषधीय पौधों की खेती के लिये प्रशिक्षण दिलाया है। साथ ही अंतर्राष्ट्रीय कंपनी द्वारा क्षेत्र में औषधीय उत्पाद खरीदने के लिये अनुबंध भी किया गया है। वन विभाग द्वारा 60 हेक्टेयर पर स्थानीय एवं औषधीय प्रजाति के करीब 5 हजार औषधीय पौधों का रोपण किया गया है। सर्वेक्षण में अमरकंटक क्षेत्र लेमन ग्रास, पामा रोजा और स्टीविया औषधीय पौधों की पैदावार के लिये अनुकूल पाया गया है।

 

Related Articles

Back to top button