पूर्व केंद्रीय मंत्री ने झारखंड रोपवे हादसे को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

जबलपुर
झारखंड में जब से सरकार बनी है तब से तीन बार विपक्षी दल ने प्रयास किया है कि कैसे उनकी सरकार को गिराए जाए, पर यह लोग कभी सफल नहीं हो पाएंगे. यह कहना है पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय का. गुरुवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री जबलपुर दौरे पर आए. यहां ईटीवी भारत से विशेष बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि झारखंड का विधायक आंदोलन से निकलकर आया है. वह भाजपा के पल्ले में पड़ने वाला नहीं है. उन्होंने दावा किया कि झारखंड में पूरे पांच साल तक सरकार चलेगी.

भाजपा ने विधायकों को खरीदा
पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय ने कहा कि मध्यप्रदेश इतना बड़ा राज्य है जहां पर जनता के द्वारा सरकार को चुना गया था पर विधायकों को खरीद कर भाजपा ने सरकार गिरा दी. भाजपा की नीयत और नीति के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी. पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय की माने तो पांच राज्यों में कांग्रेस की बनती हुई सरकार को भाजपा ने गिराने का काम किया है. उन्होंने विधायकों को खरीद लिया और सरकार गिरा दी. इतना सब करने के बाद भी इनके चेहरे में जरा सी भी शिकन नहीं है. इन्हें शर्म भी नहीं आती है.

रोपवे हादसे के दोषियों पर होगी कार्रवाई
2024 लोकसभा चुनाव को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय ने कहा कि पूरी कांग्रेस में एकता होगी. ममता बनर्जी, शरद पवार, राहुल गांधी सभी लोग मिलकर चुनाव लड़ेंगे. निश्चित रूप से केंद्र में सरकार भी बनेगी. खरगोन की घटना को पूर्व केंद्रीय मंत्री ने शर्मनाक बताया. उन्होंने कहा कि अगर यहां भाजपा सरकार चला रही है, तो कुछ कानून भी बने होंगे. यहां पर कानून नहीं दिखता है. यहां सिर्फ गुंडाराज है. वहीं झारखंड में हुए रोपवे हादसे पर सुबोध कांत सहाय ने कहा है कि यह घटना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है. झारखंड सरकार इसमें जांच कर रही है, जो भी दोषी होगा. उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

Related Articles

Back to top button