पर्यटकों को वन्यप्राणी धरोंहर से अवगत कराने गोल्डन टाइगर पास करेगी जारी

 

भोपाल
विदेशों और भारत के अन्य राज्यों से मध्यप्रदेश में लंबे अवधि के लिए प्रवास पर आने वाले पर्यटकों को प्रदेश की वन्यप्राणी धरोंहर से अवगत कराने अब राज्य सरकार गोल्डन टाईगर पास जारी करेगी।

इन पासों का सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि इन पर पर्यटक असीमित बार प्रदेश के किसी भी टाईगर रिजर्व के कोर एवं बफर क्षेत्र और अन्य अभ्यारण्यों एवं राष्टÑीय उद्यान , वन विभाग द्वारा संचालित चिड़ियाघर में असीमित बार प्रवेश कर सकेंगे। यह सुविधा देशी और विदेशी पर्यटकों के लिए एक अक्टूबर 2022 से शुरु होगी।  इसके तहत भारत अथवा विदेशों से लंबी अवधि के प्रवास पर मध्यप्रदेश आने वाले पर्यटक जो मध्यप्रदेश और इसकी वन्य प्राणी धरोहर को संपूर्णता से देखना, अनुभवन करना चाहते है उन्हें गोल्डन टाईगर पास जारी किए जाएंगे।

प्रत्येक पर्यटन वर्ष में ऐसे 36 अनुमति पत्र गोल्डन टाइगर पास के रुप में जारी किए जाएंगे।  पर्यटन वर्ष हेतु आॅनलाईन बुकिंग प्रारंभ होते ही गोल्डन टाइगर पास आॅनलाईन उपलब्ध करा दिए जाएंगे।

1 अक्टूबर से जून तक रहेगा वैध
गोल्डन टाइगर पास धारक पास एक पर्यटन वर्ष अक्टूबर से जून तक की वैधता वाले पर्यटन अनुज्ञा पत्र होंगे तथा वे जिस व्यक्ति अथवा व्यक्ति समूहों के नाम से जारी किए जाएंगे वे इस अवधि के दौरान प्रदेश के किसी भी वन्य प्राणी पर्यटन क्षेत्र में पर्यटन हेतु असीमित बार प्रवेश कर सकेंगे। पासधारक पास खरीदते समय 10 व्यक्तियों को पंजीकृत कर सकता है।

  पर्यटन वर्ष्ज्ञ में एक बार उक्त पंजीकृत व्यक्तियों के नाम परिवर्तन करने की सूचना संबंधित र्क्षेत्र के  अधिकारी को देकर नाम परिवर्तित किए जा सकेंगे। धारक सहित अधिकतम छह व्यक्तियों को एक बार में पास उपयोग करने की अनुमति होगी। प्रत्येक भ्रमण में धारक की उपस्थिति अनिवार्य होगी। पास धारक अपने वाहन में पंजीकृत व्यक्तियों के अलावा अन्य किसी को अंदर नहीं ले जा सकेंगे।

गोल्डन टाइगर पासधारी पर्यटकों को सफारी के दो दिवस पहले शाम पांच बजे के पूर्व आॅनलाईन पोर्टल पर जाकर अपने लिए स्लॉट ब्लाक करना होगा। जिन वन्य प्राणी पर्यटन क्षेत्रोें में पर्यटकों हेतु एक से अधिक पर्यटन जोन है उनमें गोल्डन टाइगर पासधारी पर्यटक एक दिवस में किसी भी एक जोन का चयन कर सकेंगे। गोल्डन टाइगर पास धारी व्यक्ति  और समूह पर्यटन के दौरान उन नियमों का पालन करेंगे जो पर्यटकों हेतु निर्धारित है।

विदेशी पर्यटकों की दर दोगुनी होगी
गोल्डन टाइगर पास प्राप्त करने की दर प्रीमियम दिवसों में टाइगर रिजर्व्स के कोर क्षेत्रों हेतु निर्धारित दर का 25 गुना होगी। विदेशी पर्यटकों हेतु गोल्डन पास की दर भारतीयों हेतु निर्धारित दर की दोगनी होगी। गोल्डन टाइगर पास योजना के तहत प्राप्त राशि प्रदेश के टाइगर रिजर्व में बराबर रुप से विकास निधि खाते में हस्तांतरित की जाएगी।

Related Articles

Back to top button