ग्रीन कॉरिडोर की तर्ज पर बनेगा ग्रेनाइट ब्लाक कॉरिडोर, टाइम बाउंडिंग प्रोसेस में 29 मई को दिल्ली पहुंचना है ग्रेनाइट

भोपाल
हार्ट और लीवर के मरीजों को जल्द एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाने के लिए बनाए जाने वाले ग्रीन कारिडोर की तर्ज पर एमपी में ग्रेनाइट ब्लाक कारिडोर बनेगा। यह कारिडोर सिवनी जिले से होकर सागर होते हुए झांसी की ओर जाएगा। इस ग्रेनाइट ब्लाक कारिडोर के बनाने को लेकर केंद्र सरकार ने प्रदेश के परिवहन महकमे को पत्र लिखा है जिसमें कहा गया है कि तीन दिन में यह कारिडोर एमपी क्रास करेगा। इसलिए सभी जिलों को निर्देश दिए जाएं कि ग्रेनाइट ब्लाक से भरे वाहन को कहीं भी रोका न जाए।

इसके लिए टोल, बैरियर समेत अन्य सभी तरह के शुल्क भी फ्री किए गए हैं। केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय के सचिव गोविन्द मोहन ने इस कारिडोर को लेकर परिवहन विभाग के प्रमुख सचिव को लिखे पत्र में कहा है कि ग्रेनाइट ब्लाक से लोड एक वाहन को क्रिटिकल प्रोजेक्ट के लिए टाइम बाउंडिंग प्रोसेस में 29 मई को दिल्ली पहुंचना है। यह वाहन मध्यप्रदेश के सिवनी, सागर जिलों से होकर झांसी जाएगा और आगे दिल्ली रवाना होगा।

इसलिए महाराष्ट्र की सीमा से प्रवेश करने वाले इस वाहन को सिवनी, सागर, झांसी रूट पर पड़ने वाले सभी मार्गों पर टोल प्लाजा, बैरियर आदि स्थानों पर रोका नहीं जाए। पत्र में कहा गया है कि यह वाहन 23 से 25 मई के बीच एमपी के शहरों और ग्रामों से होकर गुजरने वाले नेशनल हाईवे, राज्य मार्गों से होकर गुजरेगा।

इसलिए यह स्पष्ट रहे कि एनएचएआई के अधिकारियों के साथ पुलिस, राजस्व, खनिज समेत अन्य सभी संबंधित विभागों को यह निर्देश दिए जाएं कि इस वाहन को कहीं रोकना नहीं है। इसे 29 मई को दिल्ली पहुंचने के लिए मार्ग में आने वाली बाधाओं का निराकरण भी करना है।

Related Articles

Back to top button