तेज रफ्तार लोडिंग ने कंस्ट्रक्शन साइट के सुपरवाइजर को रौंदा

ग्वालियर
ग्वालियर में एक कंस्ट्रक्शन साइट के सुपरवाइजर को पेट दर्द की दवा लेने जाना मौत का कारण बन गया। सड़क पार करते ही तेज रफ्तार लोडिंग उसे रौंदते हुए निकल गई। घटना में सुपर वाइजर गंभीर रूप से घायल हो गया था। जिसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। जहां उसने तड़पते हुए दम तोड़ दिया। घटना मुरार के बालाजी पुरम व लाल टिपारा इलाके की है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने शव को निगरानी में लेकर पोस्टमार्टम कराया है। टक्कर मारने वाले वाहन की पहचान कर FIR दर्ज कर ली है।

उपनगर मुरार के बालाजीपुरम निवासी 48 वर्षीय राजू श्रीवास पुत्र बलराम श्रीवास मुल रूप से भिण्ड के रहने वाले थे। वह बालाजीपुरम में एक कंस्ट्रक्शन साइट पर बतौर सुपर वाइजर पदस्थ थे। सुबह उनकी तबियत खराब थी, लगातार पेट में असहनीय दर्द हो रहा था। जिस पर वह दवा लेने के लिए जा रहे थे। अभी वह लाल टिपारा के पास पहुंचे ही थे कि तभी तेज रफ्तार आ रही स्वराज मजदा क्रमांक MP07 G-6422 के चालक ने लापरवाही व तेजी से चलाते हुए उन्हें टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही वह बेहोश हो गए। मामले का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और घायल को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करा दिया है। जहां पर उपचार के दौरान राजू ने दम तोड़ दिया। सुपरवाइजर की मौत का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच के बाद आरोपी चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

– सुपरवाइजर जब दवा लेने अकेला निकल रहा था तो स्टाफ के कुछ लोगों ने मना किया था। उनका कहना था कि पांच मिनट बाद किसी के साथ भेज देंगे, लेकिन सुपर वाइजन नहीं माना और निकल पड़ा। 10 मिनट बाद ही हादसे की खबर आ गई। स्टाफ के लोगों का कहना है कि काश वह अकेले नहीं निकलते।

मुरार थाना प्रभारी शैलेन्द्र भार्गव का कहना है कि शव को निगरानी में लेकर पोस्टमार्टम कराया है। साथ ही टक्कर मारने वाली गाड़ी की पहचान कर आरोपी की तलाश की जा रही है।

Related Articles

Back to top button