जबलपुर में हिंदू संगठनों ने 5 घंटे तक रखा चक्काजाम

जबलपुर

जबलपुर में हिंदू नववर्ष पर लगाए गए भगवा झंडों को कचरा गाड़ी में ढोने पर बवाल हो गया। इन झंडों को उतरवाकर नगर निगम ने कचरा गाड़ी के जरिए भेज दिया। इससे नाराज RSS, विश्व हिंदू परिषद और दूसरे हिंदू संगठन सड़क पर उतर आए। संगठन के लोगों ने बड़ा फुहारा पर चक्काजाम कर दिया। प्रदर्शनकारी नगर निगम आयुक्त और कलेक्टर से माफी मंगवाने की जिद पर अड़ गए। पांच घंटे बाद कलेक्टर इलैयाराजा व एसपी पहुंचे। कलेक्टर को ज्ञापन सौंपने के बाद प्रदर्शनकारी वहां से हटे।

प्रदर्शन पर बैठे आक्रोशित हिंदू संगठन के कार्यकर्ता जय श्रीराम के नारे लगा रहे थे। उनकी वजह से फुहारा इलाके में जाम लग गया। उन्हें मनाने के लिए मौके पर SDM भी पहुंचे, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने उन्हें लौटा दिया। हिंदू संगठन से जुड़े सचिन नायर ने बताया कि यह भगवा ध्वज का अपमान है। झंडे को उतार कर इस तरह कचरा गाड़ी में डालने से भावनाएं आहत हुई हैं। दूसरे धर्मों के आयोजन से जुड़े झंडे आदि हटाने में प्रशासन के हाथ-पांव क्यों फूल जाते हैं? ऐसे अधिकारियों को हटाया जाए।

दरअसल स्वच्छता अभियान के तहत नगर निगम रोज शहर से बैनर-पोस्टर और झंडे हटवा रही है। इसी दौरान शनिवार को गुड़ी पड़वा के लिए लगाए गए भगवा झंडे भी हटा दिए गए। इसी मामले ने तूल पकड़ लिया।

SDM और निगम अधिकारियों को लौटाया
प्रदर्शन कर रहे लोगों ने नगर निगम के स्वास्थ्य अधिकारी और मौके पर बातचीत करने पहुंचे SDM नम: शिवाय अरजरिया को लौटा दिया। आक्रोशित हिंदू संगठनों की मांग थी कि जब तक मौके पर निगमायुक्त आशीष वशिष्ठ और कलेक्टर इलैयाराजा आकर माफी नहीं मांग लेते, प्रदर्शन जारी रहेगा। मौके पर पूर्व महापौर प्रभात साहू, सदानंद गोडबोले सहित दूसरे बीजेपी नेता भी पहुंच गए। जबलपुर सांसद राकेश सिंह भी वहां पहुंच गए।

सांसद पहुंचे, फिर कलेक्टर-एसपी
RSS समेत हिंदूवादी संगठनों के प्रदर्शन की सूचना पाकर सांसद राकेश सिंह भी पहुंचे। इसके बाद दोपहर दो बजे के करीब कलेक्टर इलैयाराजा टी व एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा पहुंचे। कलेक्टर को प्रदर्शनकारियों से नगर निगम की अभद्रता को लेकर ज्ञापन सौंपा। इसके बाद प्रदर्शन समाप्त हुआ।

Related Articles

Back to top button