मध्य प्रदेश में ट्रैफिक रूल तोड़ा तो भरना होगा ‘ऑन स्पॉट फाइन’, मिलेगी कार्ड पेमेंट की सुविधा

भोपाल।

मध्य प्रदेश पुलिस यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले लोगों से जुर्माना वसूलने के लिए प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीनों का इस्तेमाल करेगी। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी। पुलिस प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान (पीटीआरआई) के अतिरिक्त महानिदेशक (एडीजी) जी जनार्दन ने बताया कि भुगतान कार्ड (डेबिट और अन्य) के माध्यम से यातायात उल्लंघनकर्ताओं से जुर्माना वसूलने के लिए पुलिसकर्मियों को कम से कम 300 पीओएस मशीनें मुहैया कराई जाएंगी। उन्होंने कहा कि इस संबंध में सोमवार को भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गया है।

पुलिसकर्मियों को दी जाएगी ट्रेनिंग
जनार्दन ने कहा कि बैंक भोपाल संभाग के चार जिलों और सागर संभाग के छह जिलों में जुर्माना वसूली के लिए पुलिस को 300 पीओएस मशीनें उपलब्ध कराएगा। उन्होंने कहा कि इसके अलावा 1500 पीओएस मशीनों के लिए चार अन्य बैंकों के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। इसके साथ ही कर्मियों को मशीनों का उपयोग करने के लिए ट्रेनिंग दी जाएगा। उन्होंने कहा, 'पीओएस मशीनें यह सुनिश्चित करेंगी कि जुर्माना संग्रह बेहतर तरीके से किया जाए और जुर्माना तेजी से वसूल किया जाए।' उन्होंने कहा कि जिला मुख्यालयों पर एनआईसी के सहयोग से बैंक अधिकारियों और तकनीकी विशेषज्ञों द्वारा मशीनों को संचालित करने का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

 

Related Articles

Back to top button