पेटलावद में मिली अवैध जिलेटिन और डिटोनेटर की छड़ें

पेटलावद 
पेटलावद ब्लास्ट की दुखद घटना हर किसी के आज भी रोंगटे खड़े कर देती है। 12 सिंतबर 2015 को हुए पेटलावद में ब्लास्ट में सबसे बड़ी वजह अवैध रूप से रखे गए जिलेटिन और डेटोनेटर छड़ थी। जिसके कारण इतनी बड़ी त्रासदी हुई, लेकिन इस त्रासदी के बाद भी कोई भी सबक लेने को तयार नहीं है और आज भी पूरा अंचल बारूद के ढेर पर बैठा है। 6 साल पुरानी इस घटना को जिलेटिन और डिटोनेटर का धंधा करने वाले लोगों ने भुला दिया है और फिर से वे लोगो की जान के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। ताजा मामला पेटलावद नगर में ही सामने आया। जहां वार्ड क्रमांक 10 के कुम्हार मोहल्ले में रहने वाले अब्दुल हमीर मंसूरी नाम के व्यक्ति ने अपने घर पर अवैध रूप से जिलेटिन और डिटोनेटर की छड़े रख रखी थी।

इसकी भनक जब पुलिस को मुखबीर तंत्रों से लगी तो पुलिस ने फौरन ताबड़ तोड़ छापामार कार्रवाई की और उसके यहां रखी 28 जिलेटिन और 28 डिटोनेटर छड़ों को सुरक्षित जब्त कर पुलिस थाने लाया गया। एसडीओपी सोनू डावर और टीआई संजय रावत ने बताया पुलिस ने हमीर मंसूरी के खिलाफ भारतीयदंड संहिता 1860 की धारा 286, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम 1908 की धारा 4 और 5 व विस्फोटक अधिनियम 1884 की धारा 9 ख के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है। यह डिटोनेटर और जिलेटिन की छड़े उसने किससे और कब खरीदी इसकी जांच की जा रही है। पुलिस आरोपी को न्यायालय में पेश करने के बाद पीआर की मांग करेगी, ताकि इस अवैध धंधे में ओर कौन लोग शामिल हैं, उनका पता लगाया जा सके। फिलहाल इस बड़ी कार्रवाई के बाद ऐसा लगता है कि इस क्षेत्र को इन अवैध बारुद रखने वालों द्वारा मौत के करीब धकेला जा रहा है।

Related Articles

Back to top button