जबलपुर में BJP राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा वोटर्स के सुख-दुख में काम आएं कार्यकर्ता वरना वोट कैसे मांगेंगे

जबलपुर
भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आज बूथ समिति की बैठक में कार्यकर्ताओं से सीधा प्रश्न किया कि आप वोट मांगने कैसे जाओगे? नड्डा केंट विधानसभा अंतर्गत बूथ क्रमांक 106 की  बैठक में कार्यकर्ताओं से संवाद कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सीधे वोट मांगने से स्वार्थ झलकता है।

आपका कर्तव्य है कि वोटरों से परिवार जैसे रिश्ते बनाओ। वोटर के घर जाओ, आत्मीयता से हाथ जोड़ो और फिर बोलो कि मैं बीजेपी से आया हूं। तीन दिनी नगर प्रवास के दूसरे दिन बूथ की बैठक में पहुंचे भाजपा अध्यक्ष का स्वागत कन्या द्वारा किया गया।

नड्डा ने कहा कि अपनी बात कहने से पहले मतदाता की बात सुनो। हो सकता है कि वो नाराजगी भी जाहिर करे। इस नाराजगी से आहत नहीं होना है। वोट लेने से पहले मतदाताओं से दोस्ती होनी चाहिए। प्रयास ये रखा जाये कि मतदाता से आपकी दोस्ती सिर्फ वोट को लेकर न हो, बल्कि उसके सुख-दुख, काम-काज, जरूरतों और सेवा को लेकर भी हो।

उन्होने कहा कि कार्यकर्ता नाराज है तो पहले उसकी नाराजी दूर करो। नड्डा ने कहा कि निकाय चुनाव अभ्यास है, 2023 और उसके बाद का चुनाव मुख्य है। इन 18 माह में 18 बार कार्यकर्ताओं को लोगों के घर जाना चाहिए। उन्हें मन की बात सुनाना चाहिए और उनके मन की बात सुनना चाहिए। उन्होंने कहा कि जनता को ये बात समझाना जरूरी है कि हमारे लिए सत्ता और राजनीति सेवा का माध्यम है।

एक व्यक्ति लाये पांच वोट
नड्डा ने मंच पर उपस्थित प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा से मुखातिब होते हुए कहा कि बूथ के लिए एक व्यक्ति को तय करें। वो सबकी मॉनीटरिंग करे। कोशिश ये हो कि एक कार्यकर्ता पांच वोट लाये। उन्होंने कहा कि नारेबाजी, हो-हल्ला से नहीं होता काम। वन बूथ-टेन यूथ की योजना अच्छी है, युवाओं को उनका दायित्व समझाया जाना चाहिए।

आते ही शुरू की बात
मंच पर आते ही उन्होंने कार्यकर्ताओं से संवाद करना शुरू कर दिया था। उन्होंने एक-एक कार्यकर्ता का परिचय लिया। मस्ताना चौक स्थित आशीर्वाद बारात घर जहां ये बैठक आयोजित थी, में पहुंचने पर क्षेत्रीय विधायक अशोक रोहाणी ने उनका स्वागत किया। दीप प्रज्जवलन से प्रारंभ इस बैठक में रोहाणी ने राम मंदिर का प्रतीक चिन्ह देकर नड्डा का सम्मान किया।

पार्टी की विचारधारा को घर-घर लेकर जाएं
जेपी नड्डा ने बूथ-यूथ का जहां ध्यान रखा तो वहीं कार्यकर्ताओं से कहा कि पार्टी की विचारधारा लेकर घर-घर जाएं। राष्ट्रीय अध्यक्ष केंट विधानसभा अंतर्गत बूथ क्र 106 की बैठक लेने आशीर्वाद बारात घर रांझी पहुंचे। यहां उन्होंने कहा कि बूथ का काम यज्ञ की प्रारंभिक आहुति की तरह है।

ये आहुति संभल गई तो सब संभल गया। नड्डा ने कहा दोस्तों यह कोई मेरा व्यक्तिगत स्वागत नहीं है। जिस विचारधारा पर आप काम कर रहे हो, उसके मूर्त रूप में एक संगठन के अध्यक्ष के रूप में मुझे भी कार्य करने का मौका मिला। इसके बाद उन्होंने घमापुर चौक में अनुसूचित जाति मोर्चा कार्यकर्ता आशीष अहिरवार के निवास पर चाय पीकर एकता का संदेश दिया। इसके बाद पश्चिम विधानसभा अंतर्गत रानी दुर्गावती मंडल की बैठक रॉयल स्कूल संजीवनी नगर में ली। शाम को वे वेटरनरी ग्राउंड पर यूथ सम्मेलन में शिरकत करेंगे।

कोर ग्रुप में गहन मंत्रणा, विधानसभा से लोकसभा तक चर्चा
बूथ-मंडल को साधने के बाद नड्डा रानीताल स्थित संभागीय कार्यालय पहुंचे। जहां, कोर ग्रुप की बैठक में उन्होंने गहन सियासी मंत्रणा की। इस उच्च स्तरीय बैठक में उन्होंने निकाय से लेकर विधानसभा और फिर लोकसभा तक की बिंदुवार चर्चा की। कोर गु्रप में महाकोशल केंद्र में रहा जहां 2018 के चुनाव में पार्टी को नुकसान उठाना पड़ा था। उम्मीदवार चयन में चूक, संगठन की कमजोरी जैसे विषयों को कोर ग्रुप में रखा गया।

जबलपुर की चार विधानसभा सीटों सहित महाकोशल की जिन 14 सीटों पर पार्टी को हार का सामना करना पड़ा है, वहां कैसे विजय श्री हासिल हो, इस पर उन्होंने ध्यान केद्रित किया। इसके साथ ही जातिगत समीकरण, सियासी संतुलन, आदिवासी-अल्पसंख्यक स्थिति पर भी चर्चा की। बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा सहित कोर ग्रुप के सभी वरिष्ठ सदस्य उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button