इंदौर फिर बना नंबर 1, अब ‘ईट राइट चैलेंज’ प्रतियोगिता में शहर बना अव्वल!

 इंदौर
स्वच्छता में नंबर वन शहर इंदौर अब लगातार अन्य प्रतियोगिताओं में भी अच्छा खासा प्रदर्शन कर रहा है, जहां देश में स्वच्छता के बाद खाने की गुणवत्ता, नवाचार और नियमों के पालन में इंदौर ने अपना वर्चस्व बनाया है. 'ईट राइट चैलेंज' प्रतियोगिता में इंदौर देश में प्रथम रहा. प्रदेश के 9 प्रतिभागी जिलों में से इंदौर प्रथम, द्वितीय भोपाल, और तीसरे स्थान पर उज्जैन आया है. प्रतिभागी 6 जिलों का शीर्ष 10 में अपना स्थान बनाना प्रदेश के लिए स्वर्णिम उपलब्धि है. ईट-राइट चैलेंज फॉर सिटीज एंड डिस्ट्रिक्ट्स के तहत खाद्य सुरक्षा की पहलों को अपनाने,नियम और परिवर्तन को बढ़ावा देने के प्रयासों को मान्यता देने के उद्देश्य से देश के 188 शहरों ने पंजीकरण किया था. विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मंडविया ने पुरस्कार वितरित किए. राज्य खाद्य सुरक्षा आयुक्त डॉ. सुदाम खाड़े और खाद्य सुरक्षा प्रशासन के पदाधिकारियों ने पुरस्कार ग्रहण किए.

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस पर नई दिल्ली में आयोजित एक समारोह में इंदौर को ईट राइट चैलेंज का पहला पुरस्कार दिया गया. देश के 188 शहरों के बीच हुई, इस प्रतियोगिता में इंदौर ने बाजी मारी और 5 बार स्वच्छता में आने के साथ-साथ ईट राइट चैलेंज में भी इंदौर पूरे देश में पहले स्थान पर रहा. दिल्ली गए अपर कलेक्टर डॉ. अभय बेड़ेकर ने केन्द्रीय मंत्री से यह पुरस्कार हासिल किया. इस कारण इंदौर बना नंबर 1 कलेक्टर मनीष सिंह द्वारा लगातार खाद्य प्रतिष्ठानों की जांच, मिलावटखोरों पर की गई कार्रवाई और कारोबारियों को दी गई समझाइश के परिणाम स्वरूप खाद्यान्न की गुणवत्ता भी सुधरने लगी, जिसके चलते यह महत्वपूर्ण पुरस्कार इंदौर को हासिल हुआ है.
 

Related Articles

Back to top button