MP News : इंदौर से सरफराज मेमन हिरासत में, NIA ने जारी किया देश में बड़े हमले का अलर्ट

MP News : चीन और पाकिस्तान में ट्रेनिंग ले चुका सरफराज मेमन को इंदौर में हिरासत में ले लिया गया। उससे इंटेलिजेंस और पुलिस की टीम पूछताछ कर रही है। पूछताछ के दौरान पता चला कि वह 15 बार चीन और हांगकांग गया था। अब उससे मुंबई एटीएस की टीम पूछताछ करेगी।

Latest MP News : उज्जवल प्रदेश, इंदौर . इंदौर से सरफराज मेमन को पकड़ा गया है। पुलिस को जानकारी मिली थी कि वह विदेशों से ट्रेनिंग लेकर आया है। इसके साथ एनआइए ने देश में बड़े हमले का अलर्ट भी जारी किया था। पुलिस रविवार देर रात उसे तलाशने उसके घर और दुकान पर पहुंची लेकिन वह नहीं मिला। इसके बाद पुलिस उसके माता पिता को पूछताछ के लिए पुलिस स्टेशन लाई।

माता पिता के थाने आने के बाद उसने पुलिस को फोन कर खुद थाने आने की बात कही। देर रात पुलिस ने उसे हिरासत में लिया और पूछताछ शुरू की। पुलिस को अभी उसकी बहुत सारी बातों पर संदेह है। उसके पासपोर्ट में 15 बार चीन और हांगकांग जाने की एंट्री है। उसका कहना है कि वह बिजनेस के सिलसिले में वहां जाता था। वहां से सस्ते मोबाइल खरीदकर देश में महंगे दामों में बेचने का उसका काम था। वह लंबे समय तक वहां पर रहा है।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) की रिपोर्ट के बाद में इंटेलिजेंस और पुलिस ने रविवार रात चंदननगर से सरफराज को हिरासत में लिया। रिपोर्ट में बताया है कि वह 12 साल तक हांगकांग में रहा है। यह भी कहा गया है कि पाकिस्तान और चीन से आतंकी ट्रेनिंग लेकर आया है। भारत में बड़ा हमला करने की फिराक में है। अब मुंबई का आतंकवाद विरोधी दस्ता (एटीएस) सरफराज से पूछताछ करेगा। वह 2007 के आसपास इंदौर के खजराना में भी रहा था। मकान बेचने के बाद ग्रीन पार्क कालोनी में आ गया था। पुलिस के पास वर्ष 2016 से पहले का उसके पासपोर्ट का रिकार्ड नहीं है। उसकी कुछ बातों पर अभी भी संदेह है। बैंक खातों और फोन नबंरों की जांच चल रही है।

एनआइए ने गुप्त इनपुट मुंबई पुलिस को मेमन के बारे में सूचना दी थी। एनआइए को जानकारी मिली थी कि वह मुंबई का रहने वाला है। मुंबई एटीएस हरकत में आई और इंदौर के इंटेलिजेंस डीसीपी रजत सकलेचा को बताया कि सरफराज मूलत: ग्रीन पार्क कालोनी (चंदननगर) स्थित फातमा अपार्टमेंट का रहने वाला है। चंदननगर थाना पुलिस पहुंची तो पहले उसके माता-पिता को हिरासत में लिया। देर रात वह स्वयं थाने पहुंच गया।

पासपोर्ट में 15 बार चीन और हांगकांग जाने की एंट्री मिली

डीसीपी जोन-4 आरके सिंह और एडिशनल डीसीपी जोन-4 अभिनव विश्वकर्मा ने सरफराज से पूछताछ की। उसने प्रारंभिक पूछताछ में हांगकांग में रहना स्वीकार किया। उसके पासपोर्ट में 15 बार चीन और हांगकांग जाने की एंट्री दर्ज है।

माता-पिता को पकड़ा तो खुद पुलिस के पास आया

सरफराज के घर पहुंची पुलिस ने उसके माता-पिता को हिरासत में लिया तो देर रात वह थाने पहुंच गया। सरफराज को चंदननगर इलाके में गुप्त स्थान पर कड़ी सुरक्षा में रखा गया है। पूछताछ में सवालों के स्पष्ट जवाब नहीं दे रहा है।

इनपुट मिला था, पुलिस जांच कर रही है

मप्र के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि एनआइए से जो इनपुट मिला था उसके आधार पर इंदौर की पुलिस ने सरफराज को हिरासत में लिया है। मप्र से कोई भी संदिग्ध इस तरह की गतिविधि में लिप्त है तो पुलिस उसे नहीं छोड़ेगी। जांच में यदि किसी भी तरह की आपराधिक गतिविधियों में उसकी भागीदारी मिलती है तो पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी।

मेमन के माता-पिता हिरासत में

मुंबई एटीएस ने इंदौर के इंटेलिजेंस डीसीपी रजत सकलेचा को बताया कि सरफराज मेमन चंदन नगर के ग्रीन पार्क कालोनी के फातमा अपार्टमेंट में रहता है, जिस पर पुलिस मौके पर पहुंची और उसके माता-पिता को हिरासत में ले लिया। इसके बाद देर रात वह खुद थाने पहुंच गया।
कई राज्यों में ठिकाने

बताया जाता है कि मेमन अक्सर अलग-अलग देशों में जाया करता है। उसके कई राज्यों में ठिकाने होने की भी सूचना है। पूछताछ में उसने बताया कि उसकी बहन की ब्रेन हेमरेज से मौत हो गई थी, जिसकी वजह से वह परेशान रहता था। व्यवसाय के सिलसिले में वह हांगकांग चला गया, जहां वह 12 साल तक रहा।

अब मुंबई एटीएस करेगी पूछताछ

बताया जाता है कि मेमन 2007 के आसपास इंदौर के खजराना में भी रहा। यहां मकान बेचने के बाद वह चंदन नगर आ गया। उसकी कुछ बातों पर संदेहक जिस वजह से मुंबई एटीएस को पूछताछ के लिए बुलाया गया है।
अमित शाह के ट्विटर अकाउंट को किया था हैक

पूछताछ में शामिल एक अधिकारी के मुताबिक, वह 2020 में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के ट्विटर अकाउंट को हैक करने में भी शामिल रहा, जिस पर उसके खिलाफ गुजरात में मामला दर्ज किया गया था।

सरफराज के पिता ने की दूसरी शादी

यह भी जानकारी सामने आई है कि मां के निधन के बाद सरफराज के पिता ने दूसरी शादी कर ली, जिसकी वजह से वह और उसके दो भाई नाराज हैं। सभी अलग-अलग जगहों पर रहते हैं। बताया जाता कि सरफराज की मोबाइल की दुकान है। वह विदेश से सस्ते दामों में मोबाइल खरीदकर यहां महंगे दामों पर बेचता है।

Related Articles

Back to top button