भोपाल रेल मंडल में बीते वर्ष 1270 हुई जंजीर खीचने की घटना

 भोपाल
 ट्रेनों में मनमर्जी के ब्रेक लगाने वालों की संख्या कम तो हुई है लेकिन ऐसे लोगों से पूरी तरह छूटकारा नहीं मिला है। इसकी वजह से ट्रेनों में सफर करने वाले लाखों यात्रियों को यात्रा पूरी करने में समय लग रहा है। भोपाल रेल मंडल से गुजरने वाली ट्रेनों में बीते वर्ष 1270 लोगों ने जंजीर खींच दी थी जिसकी वजह से ट्रेनें रूक गईं। ट्रेन को दोबारा चलने में न्यूनतम दस मिनट और अधिकतम 15 मिनट लगे थे। कुछ मामलों में तो इससे भी अधिक समय लगा था। जिसकी वजह से इन ट्रेनों में सफर करने वाले लाखों यात्रियों को परेशान होना पड़ा था ये इतनी ही देरी से अंतिम स्टेशन पहुंचे थे। रेलवे ने ट्रेन रोकने वालो के खिलाफ सख्ती बरती है जिसके बाद इन्हें 8.50 लाख रुपए जुर्माना भरना पड़ा ड़ा़़ है।

पांच प्रतिशत इन मजबूरियों के कारण खींच जंजीर

ट्रेनों को रोकने वालों से पूछा गया और जांच की गई तो 1270 में से पांच प्रतिशत लोगोंं द्वारा बताई गई वजह सही पाई गई। इन्हींहोंने ने बताया था कि उनके स्वजन प्लेटफार्म पर भीड़ का शिकार हो गए और ट्रेन में चढ़ नहीं पाए। स्वजनों की तबीयत खराब हो गई थी। गेट पर सफर करते समय पैर स्लीप हो गया था। चोर सामान लेकर भाग रहे थे जैसे कारण मिले हैं।

Related Articles

Back to top button