42.66 लाख बच्चों के लिए राशन न पहुंचाने पर आपूर्ति निगम को लिखी चिट्ठी

भोपाल
एक ओर पीएम गरीब कल्याण योजना में सार्वजनिक वितरण प्रणाली अंतर्गत संचालित दुकानों से मुफ्त राशन बांटा जा रहा है, दूसरी ओर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में 1.09  लाख से अधिक स्कूलों में पढ़ने वाले 42.66 लाख से अधिक बच्चों के मध्यान्ह भोजन का राशन मार्च में स्कूलों तक नहीं पहुंचा है।

पीएम पोषण (प्रधानमंत्री पोषण) शक्ति निर्माण योजना से मिलने वाले मध्यान्ह भोजन के लिए इस माह का राशन स्कूलों के लिए सप्लाई नहीं किया गया। पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग के अधीन इन स्कूलों में मार्च माह में राशन नहीं पहुंचने पर पंचायत राज संचालनालय ने आपत्ति जताई है और नागरिक आपूर्ति निगम को इसको लेकर पत्र लिखा है।

प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण के राज्य समन्वयक ने प्रबंध संचालक नागरिक आपूर्ति निगम को लिखे पत्र में कहा है कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत पीएम पोषण के खाद्यान्न का वितरण माह जनवरी 2022 से एईपीडीएस पोर्टल के माध्यम से बायोमीट्रिक के आधार पर कराया जा रहा है। मार्च माह बीत गया है लेकिन परिषद के स्तर से जारी 12067.45 मीट्रिक टन खाद्यान्न के आवंटन के विरुद्ध 1025.85 मीट्रिक टन खाद्यान्न ही उचित मूल्य की दुकानों तक पहुंचाया गया है।

मार्च में नहीं पहुंचा राशन देरी पड़ रही भारी
कलेक्टरों और सीईओ जिला पंचायत को भेजी रिपोर्ट में बताया गया है कि मार्च में स्कूलों में पहुंचने वाले राशन की मात्रा शून्य है। इससे मैदानी स्तर पर पीएम पोषण योजना के संचालन में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। प्रबंध संचालक से यह भी कहा गया है कि इस देरी के कारण बच्चों को नियमित पीएम पोषण उपलब्ध नहीं हो पा रहा है।

आखिर क्या कर रहे अफसर
पीएम पोषण शक्ति निर्माण योजना में केंद्र सरकार द्वारा पंचायत क्षेत्र के विद्यार्थियों के लिए मध्यान्ह भोजन का राशन उपलब्ध कराया जाता है। फरवरी में में कोरोना के सभी प्रतिबंध हटाने के कारण फरवरी से ही स्कूलों का संचालन 100 प्रतिशत क्षमता के साथ हो रहा है। ऐसे में अब यह सवाल उठ रहा है कि आखिर मार्च माह का राशन क्यों नहीं पहुंचा? अधिकारियों ने बच्चों के मध्यान्ह भोजन के निवाले को स्कूलों तक समय पर पहुंचाने का इंतजाम क्यों नहीं किया? इसके बाद इस राशन के गायब होने और कालाबाजारी द्वारा बेचने के सवाल भी उठाए जाने लगे हैं जिसको लेकर नागरिक आपूर्ति निगम ने अब तक कोई कार्यवाही नहीं की है।

Related Articles

Back to top button