अधिकांश करदाता व्यापारियों को मिलेगा भामाशाह पुरस्कार

भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नवम्बर माह के पहले सप्ताह में वाणिज्यिक कर विभाग के जरिये सर्वाधिक टैक्स चुकाने वाले व्यापारियों को भामाशाह पुरस्कार से सम्मानित करेंगे। इस पुरस्कार की तीन कैटेगरी तय की गई हैं जिसके पुरस्कार के लिए 20 व्यापारियों को चुना गया है। इसके लिए पुरस्कार देने की तारीख का निर्धारण बुधवार को सीएम और अफसरों की बैठक में हो जाएगा।

प्रदेश में करीब तीन साल से बंद भामाशाह योजना को दोबारा चालू करने के निर्देश सीएम चौहान ने जनवरी 2021 में वाणिज्यिक कर विभाग के अफसरों को दिए थे। इसमें उन्होंने कहा था कि ईमानदार करदाताओं को प्रोत्साहित करेंगे। उन्होंने कहा था कि वित्त वर्ष समाप्त होने के बाद ऐसे करदाताओं का चयन किया जाए ताकि उन्हें पुरस्कृत किया जा सके लेकिन विभाग के अफसरों ने कर दाता चयन करने में करीब दो वर्ष (22 माह) लगा दिए। अब सीएम के समक्ष बुधवार को इसको लेकर अफसरों द्वारा रिपोर्ट पेश की जाएगी जिसके बाद टैक्सपेयर्स को अगले माह नवम्बर के पहले सप्ताह में पुरस्कृत करने की तारीख तय होगी। यह पुरस्कार 20 व्यापारियों को तीन अलग अलग कैटेगरी में प्रथम, द्वितीय और तृतीय श्रेणी के रूप में दिया जाएगा। विभाग की ओर से स्टेट जीएसटी विंग द्वारा प्रदेश के बड़े करदाताओं के लिए अलग यूनिट बनाई जा रही है। इन करदाताओं के लिए एक विशेष प्रभाग लार्ज टैक्सपेयर यूनिट (एलटीयू) गठित किया जा रहा है। इसके लिए इंदौर स्थित वाणिज्यिक कर विभाग मुख्यालय ने इंदौर, भोपाल, ग्वालियर और जबलपुर के सभी सर्कलों से बड़े करदाताओं का रिकार्ड तलब किया गया है।

जनजातीय गौरव दिवस की तैयारियों पर बैठक
सीएम शिवराज बुधवार को सीएम राइज स्कूल अभियान कार्यक्रम और सरदार वल्लभ भाई पटेल कार्यक्रम की तैयारी बैठक लेंगे। इसके बाद मध्यप्रदेश जल निगम मर्यादित संचालक मंडल की बैठक में शामिल होंगे। इसके अलावा मध्यप्रदेश के स्थापना दिवस की तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक की जाएगी। इसके अंतर्गत सात दिन अलग अलग कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इसके लिए प्रभारी मंत्रियों को कार्य योजना तैयार करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। सरकार की ओर से 15 नवंबर को जनजातीय गौरव दिवस मनाया जाएगा। इसकी तैयारी की समीक्षा भी मुख्यमंत्री करेंगे।

Related Articles

Back to top button