MP CM Mohan Yadav: जानिये कौन है मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव, जीवन परिचय

MP CM Mohan Yadav: मोहन यादव उज्जैन दक्षिण से विधायक हैं. मोहन यादव ओबीसी वर्ग से आते हैं. ये कयास लगाए जा रहे थे कि राज्य का सीएम ओबीसी ही बन सकता है.

MP CM Mohan Yadav: मोहन यादव की उम्र 58 साल बताई जा रही है. मोहन यादव की शैक्षणिक योग्यता के बारे में बात की जाए तो उन्होंने बीएससी, एलएलबी की पढ़ाई की है. उनके राजनीतिक सफर की बात करें तो साल 1982 में उन्होंने छात्र संघ का चुनाव जीता था.

2013 में मोहन यादव पहली बार विधायक बने थे और 2018 में दोबारा चुनाव जीतने के बाद पार्टी ने उन्हें उच्च शिक्षा मंत्री बनाया था. मोहन यादव के साथ दो डिप्टी सीएम भी बनाए गए हैं. जगदीश देवड़ा और राजेंद्र शुक्ला को डिप्टी सीएम बनाया गया है. वहीं स्पीकर की जिम्मेदारी नरेंद्र सिंह तोमर को सौंपी गई है.

मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों के लिए 17 नवंबर को वोट डाले गए थे. इसके नतीजे 30 नवंबर को जारी हुए थे. नतीजों में भाजपा को प्रचंड बहुमत के साथ जीत हासिल हुई थी. आंकड़ों पर नजर डालें तो भाजपा के हिस्से में 163 सीटें आईं, जबकि कांग्रेस को 66 सीटों से ही संतोष करना पड़ा.

भाजपा के भोपाल स्थित केंद्रीय कार्यालय पर विधायक दल की बैठक से पहले विधायकों ने फोटो सेशन भी कराया. यहां प्रदेश के तीनों पर्यवेक्षक हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्रटर, भाजपा सांसद के लक्ष्मण ओर पार्टी नेता आशा लाकड़ा के साथ शिवराज चौहान, वीडी शर्मा नरेंद्र सिंंह तोमर, प्रह्लाद पटेल समेत सभी नव निर्वाचित विधायक मौजूद रहे. (MP CM Mohan Yadav)

अब तक का राजनीतिक करियर – MP CM Mohan Yadav

58 वर्षीय मोहन यादव का राजनीतिक करियर एक तरह से 1984 में शुरू हुआ जब उन्होंने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को ज्वाइन किया. वह आरएसएस के भी सदस्य हैं. उन्होंने 2013 में उज्जैन दक्षिण से चुनाव लड़ा था और लगातार तीसरे चुनाव में यहां से विधायक निर्वाचित हुए हैं. इस बार उन्होंने कांग्रेस के प्रत्याशी चेतन प्रेमनारायण यादव को 12941 वोटों से हराया था. मोहन यादव को 95699 वोट मिले थे.

Also Read: MP New CM Live: मोहन यादव बने MP के CM, दो डिप्टी सीएम होंगे – जगदीश देवड़ा और राजेंद्र शुक्ला, नरेंद्र सिंह तोमर होंगे विधानसभा अध्यक्ष

बीजेपी के अनुभवी नेता हैं डॉ.मोहन यादव

मोहन यादव के नाम की घोषणा उज्जैनवासियों के लिए सरप्राइज से कम नहीं है क्योंकि सीएम पद की रेस में इनका नाम कहीं नहीं था, लेकिन विधायक दल की बैठक में उनके नाम की घोषणा की गई. वह 2004 से पहले 2010 तक उज्जैन विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष रहे हैं जबकि 2011 से 2013 तक एमपी राज्य पर्यटन विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाली है.

मोहन यादव के बारे में – Life introduction

मोहन यादव को मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया गया है. हालिया चुनाव में उज्जैन दक्षिण विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी के मोहन यादव ने कांग्रेस पार्टी के चेतन प्रेमनारायण यादव को 12941 वोटों से हराया. 2018 के चुनाव में उज्जैन दक्षिण विधानसभा सीट पर बीजेपी के मोहन यादव ने कांग्रेस के राजेंद्र वशिष्ठ को 18960 वोटों से हराया. मोहन यादव मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में उज्जैन दक्षिण निर्वाचन क्षेत्र के विधायक के रूप में कार्यरत थे. उनका राजनीतिक करियर 2013 में विधायक के रूप में उनके पहले चुनाव के साथ शुरू हुआ और उसके बाद 2018 के मध्य प्रदेश विधान सभा चुनाव में उन्हें फिर से चुना गया.

राज्य के राजनीतिक परिदृश्य में यादव का प्रभाव तब और मजबूत हो गया जब उन्होंने 2 जुलाई, 2020 को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. 25 मार्च 1965 को मध्य प्रदेश के उज्जैन में जन्मे मोहन यादव कई सालों से बीजेपी से जुड़े हुए हैं. हाल के 2023 के मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में, मोहन यादव ने कांग्रेस उम्मीदवार चेतन प्रेमनारायण यादव के खिलाफ 12,941 वोटों के अंतर से जीत हासिल करते हुए, उज्जैन दक्षिण निर्वाचन क्षेत्र में अपनी सीट का सफलतापूर्वक बचाव किया. इस जीत ने विधायक के रूप में उनका लगातार तीसरा कार्यकाल चिह्नित किया, जिसमें उन्हें 95,699 वोट मिले.

Also Read: CG New CM: विष्णुदेव साय का शपथ ग्रहण 13 दिसंबर को, पीएम मोदी होंगे शा‍म‍िल

1. सीएम मोहन यादव-उज्जैन दक्षिण विधानसभा-इन्हें 95699 वोट मिले.
2. डिप्टी सीएम जगदीश देवड़ा – मल्हागढ़ विधानसभा – इन्हें 115498 वोट मिले. उन्होंने 59024 के अंतर से जीत हासिल की.
3. डिप्टी सीएम राजेंद्र शुक्ला- रीवा सीट- इन्हें 77680 वोट मिले. उन्होंने 21339 के अंतर से जीत हासिल की.
4. सीएम डॉ. मोहन यादव – शिक्षा – बीएससी, एलएलबी, एमए राजनीति विज्ञान, एमबीए और पीएचडी
5. पत्नी का नाम – सीमा यादव
6. निर्वाचन क्षेत्र-उज्जैन दक्षिण

BJP की प्रचंड जीत

इस चुनाव में कांग्रेस और बीजेपी ने चुनाव में जनता के साथ जमकर बड़े बड़े वादे किए. बीजेपी और कांग्रेस, ग्रामीण मतदाताओं में नाराजगी होने की हकीकत से वाकिफ थे, इसलिए दोनों दलों की भावी योजनाओं के केंद्र में किसान ही रहे. एक तरफ कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ की तर्ज पर किसानों के लिए न्याय योजना को लागू कर कर्ज माफी, सिंचाई के लिए मुफ्त बिजली और गेहूं धान की खरीद पर बोनस देने का वादा किया. वहीं बीजेपी ने किसानों की कर्ज माफी के बजाय कर्ज के कारण दिवालिया हुए किसानों की ब्याज माफी को हथियार बनाया.

Also Read: MP New CM Live: मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री कौन? कोर ग्रुप की बैठक शुरू

उज्जैन दक्ष‍िण सीट से विधायक हैं मोहन यादव

उज्जैन दक्ष‍िण सीट से मोहन यादव ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस उम्‍मीदवार चेतन प्रेमनारायण यादव को 12941 वोटों से हराया था। मोहन यादव को जहां 95699 वोट मिले थे तो वहीं चेतन प्रेमनारायण यादव को 82758 वोट मिले थे। मालूम हो कि मोहन यादव आरएसएस के बेहद करीबी नेताओं में से एक माने जाते हैं। वह साल 2013 में पहली बार विधायक बने थे। यादव शिवराज सिंह सरकार में शिक्षा मंत्री भी थे।

Raipur LIVE: जाने कौन हैं छत्तीसगढ़ के नए CM, भाजपा के विष्णुदेव साय का जीवन परिचय

Show More

Related Articles

Back to top button
Join Our Whatsapp Group