MP News : प्रदेश में एक साथ 3 वेदर सिस्टम सक्रिय, आज से 3 दिन बारिश का दौर, इन जिलों में अलर्ट

MP News : बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वही भोपाल, नर्मदापुरम, उज्जैन, इंदौर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं बूंदाबांदी भी हो सकती है

Latest MP News : उज्जवल प्रदेश, भोपाल. पश्चिमी विक्षोभ का असर आज शनिवार से मध्य प्रदेश में दिखाई देगा। आज 2 संभागों समेत 12 जिलों में बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वही भोपाल, नर्मदापुरम, उज्जैन, इंदौर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं बूंदाबांदी भी हो सकती है।इससे तापमान में गिरावट आएगी और गर्मी से राहत मिलेगी। इधर, प्री मानसून के 10 जून के बाद आने की संभावना है। वही मुख्य मानसून 15 जून के बाद आने का अनुमान है।

पश्चिमी विक्षोभ से फिर बिगड़ेगा मौसम

एमपी मौसम विभाग की मानें 1 जून को सक्रिय हुए नए वेदर सिस्टम का असर आज शनिवार से प्रदेशभर में दिखाई देगा। इसके प्रभाव से 5 जून तक भोपाल, उज्जैन समेत ग्वालियर-चंबल में तेज बारिश और 40-50 Km प्रतिघंटे की स्पीड से हवा चलने का अनुमान है। वही 3, 4 और 5 जून को भोपाल-उज्जैन समेत 12 जिलों में बारिश होने का अनुमान है, वही नए पश्चिमी विक्षोभ का असर ग्वालियर और चंबल संभाग में भी देखने को मिलेगा।

मौसम विभाग के अनुसार उत्तर भारत में एक्टिव वेस्टर्न डिस्टर्बेंस का असर प्रदेश के भोपाल, उज्जैन समेत कई जिलों में पड़ेगा। 3, 4 और 5 जून को भोपाल-उज्जैन समेत 12 जिलों में बारिश होने का अनुमान है, जबकि ग्वालियर और चंबल भी भीगेंगे। हालांकि, ये सिस्टम ज्यादा स्ट्रॉन्ग नहीं है, लेकिन जून के दूसरे सप्ताह में फिर से आंधी-बारिश का दौर शुरू होगा। मानसून 20 जून तक प्रदेश में एंट्री कर सकता है।

एक दिन पहले से दिखाई दिया असर

सीनियर मौसम वैज्ञानिक एचएस पांडे ने बताया कि 1 जून को उत्तर भारत में वेस्टर्न डिस्टर्बेंस एक्टिव हो गया, जिसका असर शुक्रवार से ही प्रदेश में दिखाई देने लगा। सागर में हल्की बारिश भी हुई। 3 जून से असर तेज होगा। भोपाल-उज्जैन संभाग में गरज-चमक के साथ बारिश होगी। सिस्टम का असर भोपाल, रायसेन, राजगढ़, सीहोर, विदिशा, उज्जैन, शाजापुर, आगर-मालवा, देवास, नीमच, मंदसौर और रतलाम में दिखाई देगा। इसके बाद ग्वालियर-चंबल वाले हिस्से में भी हल्की बारिश होने की संभावना है।

जून के दूसरे दिन शुक्रवार को सागर जिले के कई हिस्सों में 7.8, नरसिंहपुर में 2.0 मिमी बारिश दर्ज की गई। मौसम विभाग के अनुसार आज यानी 3 जून से में फिर से बारिश का दौर शुरू होगा। भोपाल, ग्वालियर, चंबल और उज्जैन संभाग के जिलों में बारिश होगी।

मौसम विभाग के अनुसार उत्तर भारत में एक्टिव वेस्टर्न डिस्टर्बेंस का असर मध्य प्रदेश के कई जिलों पर पड़ रहा है। राजधानी भोपाल समेत 12 जिलों में 3, 4 और 5 जून को बारिश के आसार हैं। इसके बाद के कुछ दिन गर्मी का असर दिख सकता है लेकिन दूसरे हफ्ते के आखिर तक फिर से राहत मिलेगी। सूबे में मानसून 20 जून तक एंट्री कर सकता है।

आंधी-पानी और गिर सकते हैं ओले

मौसम के बदलते मिजाज के साथ सूबे में अगले 2-3 दिन बारिश के साथ-साथ आंधी और ओलावृष्टि की संभावना जताई गई है। प्रदेश के कई हिस्सों में हवा की रफ़्तार 50 kmph से ज्यादा हो सकती है। आज दोपहर के बाद मौसम तेजी से बदलेगा।

एक दिन पहले सूबे में मिलाजुला मौसम

शुक्रवार 2 जून को सूबे में मौसम का मिक्स-अप रहा। सागर में 8 मिमी बारिश हुई, जबकि भोपाल-इंदौर और ग्वालियर में तापमान 40 डिग्री के नीचे रहा। जबलपुर समेत 12 शहर ऐसे रहे, जहां पारा 40 डिग्री के पार पहुंच गया। कई जिलों में गर्मी की तपिश और लून जारी रही। तापमान 40 डिग्री के पार दर्ज किया गया। आज से मौसम में हो रहे बदलाव के चलते अगले कुछ दिनों तक गर्मी से राहत मिलने की संभावना है।

तेज आंधी और ओलावृष्टि

मौसम वैज्ञानिकों ने प्रदेश में तेज आंधी और ओलावृष्टि होने की आशंका जताई है। दोपहर बाद सिस्टम का असर होगा। कई इलाकों में आंधी की रफ्तार 50Km प्रतिघंटा या इससे ज्यादा भी हो सकती है।

भोपाल में ऐसा रहेगा मौसम

राजधानी में 3 और 4 जून को तेज बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने इसका अलर्ट जारी किया है। 5 जून को भी मौसम बदला रहेगा। 6 जून से मौसम साफ होगा।

जबलपुर-खजुराहो समेत 12 शहरों में पारा 40 डिग्री के पार

इससे पहले, शुक्रवार को मध्यप्रदेश में मौसम का असर मिला-जुला रहा। सागर में 8 मिमी बारिश हो गई, जबकि भोपाल-इंदौर और ग्वालियर में पारा 40 डिग्री के नीचे रहा। हालांकि, जबलपुर समेत 12 शहर ऐसे रहे, जहां पारा 40 डिग्री के पार रहा। सबसे ज्यादा तापमान खंडवा-खजुराहो में 41.5 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। मलाजखंड, नरसिंहपुर, सीधी, टीकमगढ़, उमरिया, दमोह और खरगोन में भी तापमान 41 डिग्री से ज्यादा रहा।

Related Articles

Back to top button