MP News : कोल कुंभ से लौट रही दो बसों को ट्रक ने टक्कर मारी,15 लोगों की मौत

MP News : चुरहट के मोहनिया टनल के पास हादसा, एक बस के परखच्चे उड़े, 61 घायल, गृहमंत्री के कार्यक्रम से वापस जा रहे थे लोग। इससे 15 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई।

Latest MP News : उज्जवल प्रदेश, सतना/सीधी. मध्य प्रदेश के सतना में आयोजित कोल महाकुंभ से वापस सीधी लौट रहीं दो बसें हादसे का शिकार हो गईं। मोहनिया घाटी में खड़ी दो बसों में एक तेज रफ्तार ट्रक ने पीछे से टक्कर मार दिया। इससे 15 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि, दो दर्जन से ज्यादा घायलों को रीवा और सीधी अस्पताल भेजा गया मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है।

आधिकारिक तौर पर मिली जानकारी के अनुसार हादसा रात करीब 9 बजे का बताया जा रहा। सतना में रुके मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी रात करीब 10.50 बजे घटनास्थल के लिए रवाना हो गए।

बताया गया कि सीधी जिले से सतना में आयोजित कोल महाकुंभ में शामिल होने के लिए कई बसें आईं थीं। शाम करीब पांच बजे कार्यक्रम खत्म होने के बाद वे वापस सीधी जा रही थीं। मोहनिया टनल के पास उनके रुकने का प्वाइंट तय किया गया था। दो बसें टनल के पास रुकीं। वहां कार्यक्रम में आने वालों के लिए चाय-नाश्ते की व्यवस्था की गई थी। कोल समाज के लोगों को बसों में जैसे ही नाश्ते के पैकेट दिए जा रहे थे, तभी रीवा की ओर से जा रहे तेज रफ्तार ट्रक ने एक बस को पीछे से टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज थी कि आगे वाली बस रोड से नीचे गिर गई। हादसे कई लोग बस के नीचे आ गए।

आठ लोगों की घटनास्थल पर ही मौत

घायलों को सीधी के जिला अस्पताल, चुरहट के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और रीवा के संजय गांधी मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। हादसे में आठ लोगों की घटनास्थल पर, एक की सीधी और चार की रीवा मेडिकल अस्पताल में मौत हो गई।

घटनास्‍थल पर और अस्‍पताल पहुंचे मुख्‍यमंत्री

हादसे की जानकारी मिलने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान घायलों का हाल-चाल जानने के लिए सतना से रीवा पहुंचे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान संजय गांधी अस्पताल पहुंचे। उनके साथ राज्यमंत्री रामखेलावन पटेल, पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ला और रीवा सांसद जनार्दन मिश्रा मौजूद रहे।

मृतकों के परिजनों को दस लाख की सहायता, आश्रितों को नौकरी भी

घायलों से मुलाकात करने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मीडियाकर्मियों से बातचीत की। उन्होंने बताया कि ट्रक का पहिया टूट जाने के कारण यह दुर्घटना हुई है। मृतकों के परिजनों को ₹1000000 की आर्थिक सहायता के साथ अगर उस परिवार में कोई आश्रित सरकारी नौकरी की पात्रता रखता है तो उसे नौकरी दी जाएगी। गंभीर रूप से घायल लोगों को ₹200000 और सामान्य रूप से घायल व्यक्ति को ₹100000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी। आवश्‍यकता हुई तो गंभीर घायलों को विमान से उपचार के लि‍ए भेजा जाएगा।

साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने   बताया कि जिन लोगों के कच्चे मकान हैं उन्‍हें विभिन्न योजनाओं का लाभ देकर मदद दी जाएगी। उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार के साथ दुख की घड़ी में पूरी सरकार खड़ी है।

आज रात सीधी जिले में हुई दुर्घटना में खड़ी बसों से ट्रक द्वारा टकराने के फलस्वरूप हुई जन हानि और रेस्क्यू प्रयासों की घटनास्थल पर पहुंचकर जानकारी प्राप्त की। प्रशासनिक अधिकारियों, नागरिकों और घटना के प्रत्यक्षदर्शियों से विस्तृत विवरण जाना। दु:ख की इस घड़ी में हम सब साथ हैं।

ऐसे हुआ हादसा

शाम करीब साढ़े पांच बजे कार्यक्रम खत्म होने के बाद सभी बसें सतना से रामपुर बाघेलान और रीवा के रास्ते मोहनिया टनल होकर सीधी जा रही थीं। टनल से एक किलोमीटर दूर सीधी जिले के चुरहट थाना क्षेत्र में बरखड़ा गांव के पास तीन बसें कुछ देर के लिए रोकी गई थीं।

लोगों को भोजन के पैकेट बांटे जा रहे थे, तभी हुआ हादसा

हादसे का शिकार पड़खुरी निवासी अशोक कोल ने बताया कि मोहनिया टनल के बाहर बरखड़ा गांव के पास में तीन बसें खड़ी थीं और लोगों को भोजन के पैकेट बांटे जा रहे थे। एक बस में 60 से 61 लोग सवार थे। इसी दौरान पीछे से सीमेंट से भरा एक बल्कर आया और एक-एक कर तीनों बसों को जोरदार टक्कर मार दी।

टक्कर लगते ही दो बसें करीब 10 फीट गहरी खाई में गिरींं

टक्कर लगते ही दो बसें करीब 10 फीट गहरी खाई में गिर गईं और एक बस के परखच्चे उड़ गए। इस दुर्घटना में एक कार भी चपेट में आ गई। भीषण हादसे के बाद मौके पर चीख-पुकार मच गई। दुर्घटना के बाद का नजारा दिल दहला देने वाला था। मृतकों में किसी का सिर कुचल गया तो किसी के हाथ-पैर कट गए।

सीधी जिले में बस दुर्घटना का समाचार दुःखद है। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को शांति, शोकाकुल परिजनों को यह गहन दुख सहने की शक्ति तथा घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना है – राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल।

बस के यात्रियों ने ही घायलों को न‍िकाला

बस के यात्रियों ने पुलिस को सूचना दी और अपने स्तर पर भी घायलों को बाहर निकालना शुरू किया। हादसे के बाद कलेक्टर साकेत मालवीय और एसपी मुकेश श्रीवास्तव के साथ रीवा कमिश्नर और आइजी मौके पर पहुंचे और घायलों को अस्पताल भिजवाने की व्यवस्था करवाई।

Related Articles

Back to top button